chanda cocher“अगर मुझे यह बताना हो की मेरी सफलता में सबसे अधिक योगदान किसने दिया तो मैं कहूँगी, ‘अलग खड़ा होने का जूनून .’मैं सोचती हूँ किसी भी लीडर (नेतृत्वकर्ता)  की परीक्षा इस बात से होती है कि वह चुनौतियों का प्रबंधन कैसे करता है?चुनौतिया जीवन का हिस्सा है,  मैं चुनौतियों से कभी घबराती नहीं इसीलिए आशावादी दृष्टिकोण से कह सकती हूँ कि यह परिस्थिति बदलेगी और जब यह बदलेगी तो हमें बहुत सारे अवसर देगी “