जीट्स द्वारा चलाये जा रहे आई० जागृति कार्यक्रम  के तहत इसके प्री-लौंच के प्रथम सप्ताह  में  ही बिहार के कई जिलों में सदस्यता अभियान शुरू हुई और  कंपनी को आपार सफलता मिली.

भोजपुर जिले में लगभग चालीस सदस्य जुड़े है तथा  इस प्रोजेक्ट को गाँव-गाँव पहुचाने को प्रयासरत है.ग्रामीण क्षेत्रों में आई० टी० शिक्षा की  प्रचार-प्रसार की स्थिति आज भी बहुत दयनीय है.मुलभुत सुविधाओ का आभाव है,शहरों से  अलग-थलग और  दुरी होने के कारण  लोगों  के पास इस शिक्षा का आभाव है.Posted by Picasa

आई० जागृति कार्यक्रम के तहत अब यह शिक्षा न सिर्फ उनलोगों के घर तक पहुँच रही है बल्कि  आम लोगों को विभिन्न तरह की आई० टी० सेवाएं तथा उनके  कार्य क्षमता के अनुसार उन्हें रोजगार भी मुहैया करा रही है .
कम्पनी छात्रो को  “रियल टाइम लर्न विथ रियल टाइम अर्न” की अवधारणा से जोड़कर  उनके व्यक्तित्व विकास के साथ उन्हें स्वरोजगार का रास्ता भी बता रही है.
३ अप्रैल २०११ को जगदीशपुर प्रखंड के चकवा पंचायत से इस कार्यक्रम का शुभारम्भ वहां के स्थानीय विधायक ‘भाई दिनेश ‘ करेंगे.