किसी ने सच ही कहा है कि

“सोच को अपनी ले जाओ उस शिखर पर, ताकि उसके आगे सितारे भी झुक जाएं, 
ना बनाओ अपने सफर को किसी किश्ती का मोहताज, चलो इस शान से कि तूफान भी रुक जाय।”

जब कुछ कर गुजरने की चाह हो तो इंसान न कुछ भी कर सकता है जी हा आज हम बात कर रहे है  Security and Intelligence Services (India) (sis) के संस्थापक रविन्द्र किशोर सिन्हा  ( Ravindra Kumar Sinha ) जी की जो महज 23 साल की उम्र में पटना में ही एक छोटा गैराज को किराए पर लेकर  काम शुरू कर किया था और आज  भारत  के 29 राज्यों में कारोबार फैला कर अपने कार्य को ग्लोबल पहचान दिया ।  एक ऐसी कंपनी जो पुरे विश्व में सिक्यूरिटी उद्योग में एकमात्र MNC  है |

इन्होने अपने मेहनत के बलबूते आज अपनी कंपनी को उस शिखर पर पंहुचा दिए जिसका सपना हर  एक बिजनेसमैन देखता है | 25th July को  इन्होने अपनी कंपनी का IPO r k sinha लांच  किया है. सुरक्षा व्यवसाय में यह देशभर का पहला पब्लिक ईश्यू है और बिहार में रजिस्टर्ड किसी भी सेवा के क्षेत्र की कम्पनी का यह पहला पब्लिक ईश्यू है। पब्लिक ईश्यू का साइज़ 780 करोड़ का है जिससे कम्पनी अपने 12 से 13 प्रतिशत शेयर बाज़ार में बेचेगी। मर्चेंट बैंकरों ने 10 रुपये प्रति शेयर का मूल्य 805 रुपये से 815 रुपये के बीच निर्धारित किया है।

एक ट्वीट जारी कर उन्होंने कहा की –

“25 जुलाई को मैंनें 43 वर्षों की कड़ी मेहनत और संघर्षों के बाद उस मुक़ाम को हासिल कर ही लिया जो किसी भी उद्यमी के जीवनभर का सपना होता हैँ ।”

आज से 43 साल पहले Ravindra Kumar Sinha  ने 1974 में सिक्यूरिटी एंड इंटेलिजेंस सर्विसेज (इंडिया) की शुरुवात की  थे . मात्र दो लोगो से शुरुवात की हुई कंपनी में आज  1,54,000  स्थाई कर्मचारी हो गये है . Ravindra Kumar Sinha की   कंपनी का मार्केट वैल्यू आज 4000 करोड़ है . इन्होने अपना व्वसाय को भारत   के साथ साथ ऑस्ट्रेलिया   में भी स्थापित किया है . इनके क्लाइंट  मुख्यत: टाटा स्टील , टाटा मोटर्स , आईसीआईसीआई बैंक ,  आईडिया सेलुलर इत्यादि है.

Security and Intelligence Services (India)
Security and Intelligence Services (India) Photo Source : http://sisindia.com/

रविन्द्र किशोर सिन्हा जी का परिचय :-

इनका जन्म  बक्सर , बिहार में हुआ है इन्होने अपना करियर एक पत्रकार के रूप में शुरुवात  किये थे . 1971 के भारत-पाक युद्ध कवरेज के दौरान उनकी भारतीय सेना के अधिकारियों और जवानों से अच्छी खासी दोस्ती हो गयी थी। बांग्लादेश की आज़ादी के बाद सिन्हा पटना वापस आ गये और राजनीतिक संवाददाता के रूप में दैनिक सर्चलाइट और प्रदीप के लिए कार्य करने लगे। ये बीजेपी के तरफ से वर्ष 2014 में  राज्य सभा के सदस्य  भी चुने गए |

इन्होने जय प्रकश नारायण के ऊपर एक पुस्तक भी लिखा है “जनांदोलन”. वर्तमान में आर के सिन्हा एसआईएस ग्रुप के चेयरमेन के अलावा बीजेपी से राज्यसभा सांसद एवं कई समाजसेवी संगठनों के संरक्षक है। वह देहारादून के सुविख्यात बोर्डिंग स्कूल (इंडियन पब्लिक स्कूल) भी चलाते हैं। वह पटना के आदि चित्रगुप्त मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष भी हैं। सिन्हा एक समर्पित समाजसेवी भी हैं।

इन्होने अपने एक सामजिक मुहीम संगत-पंगत के माध्यम से लोगो को मदद करते रहते है .सिन्हा, दहेज-रहित विवाह के घनघोर समर्थक हैं। संगत-पंगत के तत्त्वावधान मे उन्होने अपनी देख-रेख मे अनगिनत सामूहिक एवं दहेज-रहित विवाह सम्पन्न कराये हैं।

ये सोशल मीडिया में भी बहुत एक्टिव रहते है इनके फेसबुक पेज पर  लगभग 364193 फोलोवर है .

सफलता के मन्त्र 

रवींद्र किशोर सिन्हा के अनुसार आज के युवा को स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनना चाहिए। उसे रोजगार लेने वाला नहीं, रोजगार देने वाला बनने की ओर अग्रसर रहना चाहिए। बिजनेस को आगे बढ़ाते समय ऐसी कई चुनौतियां आपके सामने आती है जिस से पार पाना थोड़ा कठिन जरूर लगता है लेकिन आपका धैर्य, समर्पण और कड़ी मेहनत हर चुनौती को परास्त कर देता है।

उनके अनुसार बिजनेस के सफकता का मन्त्र यही है की “बिजनेस मे आने वाली दिक्कतों और चुनौतियों से घबराने की बजाए उसको हल करने (और निपटारा करने) के तरीकों को ढूँढना चाहिए। बिजनेस के शुरुआती सालों मे राजस्व (रेवेन्यू) से ज्यादा महत्वपूर्ण मार्केट और लोगो के बीच मे अपनी कंपनी की साख (गूड्विल), नाम और सम्मान बनाना होता है।”

Ravindra Kumar Sinha जी ने बिहार की धरती को गौरान्वित किया है ,  रविन्द्र किशोर सिन्हा जी ने एक उद्यमी के रूप में जो किया वह अपने आप में बेमिसाल है और निसंदेह  आज की  युवाओं को उनसे  प्रेरणा  लेने की जरूरत है  |

Manoj Kr Gupta

Editor at BiharStory
Manoj Kr Gupta is young professional and passionate writer at BiharStory.in .
Manoj Kr Gupta

Latest posts by Manoj Kr Gupta (see all)