जोखिम उठाकर कुछ नया  करने का जज्बा या कुछ  अलग करने की सोच रखने वालों की संख्या कम ही होती है। सभी लोग जोखिम नहीं उठाना चाहते। यही वजह है जो लोग कुछ नया करने का जज्बा रखते हैं और विपरीत परिस्थितयों में भी अपने लक्ष्य पर अडिग रहते हुए अपने लक्ष्य के लिए लगातार प्रयासरत रहते है उनकी सफलता शोर मचा ही देती है और दुनिया ऐसे लोगो को सलाम करती है। बिहार (Bihar) में एक ऐसा ही नाम है “शाजिया कैसर” (Shazia Kaisar) भागलपुर (Bhagalpur) जिले की शाजिया कैसर (Shazia Kaisar) ने बिहार (Bihar) में उस चीज़ की नींव रखी जिसके बारे में किसी ने सोचा तक नहीं था | जी हाँ शाजिया ने शुरू की बिहार (Bihar) का पहला शू लॉन्ड्री (Shoe Laundary), जिसका नाम ‘रिवाइवल शू लॉन्ड्री’ (Revival Shoe Laundary) हैं.  

revival shoe laundry
पाटलिपुत्र स्थित शाजिया की शॉप

 लिक से हटकर शाजिया की सोच  

मूलतः भागलपुर (Bhagalpur, Bihar) जिले में जन्मी और पटना (Patna, Bihar) में रहने वाली शाजिया की शादी नवादा जिले में हुई है, इनके पति सरकारी पद पर कार्यरत है और इनके पिता मो. कैषर अली भी  बिहार सरकार में उच्च पद (जिलाधिकारी) पर आसीन थे  |शाजिया कैसर (Shazia Kaisar) ने Physiotherapy से ग्रेजुएशन और Hospitality Management से मास्टर्स भी किया है | W.H.O एवं UNICEF में भी काम कर चुकी शाज़िया ने कभी एक पत्रिका में ‘शू लॉन्ड्री’ (Shoe Laundary) पर एक आर्टिकल पढ़ा था और उनका ध्यान इस तरफ गया | वो इतना प्रभावित हुईं कि बिहार (Bihar) में इस बिजनेस को स्टार्ट करने का मन बनाया|

जॉब करने के साथ – साथ ही Shazia Kaisar रिसर्च वर्क जारी रहा और उसी सिलसिले में वो भूटान और ऑल ओवर इंडिया के पूणा, मुंबई, चेन्नई इत्यादि ब्रांच में जाकर ट्रेनिंग ले आयीं. शाजिया ने शुरुवाती दौर में कचरे में फेंके हुए जूतों को भी मरम्मत कर उन्हें काम लायक बनाया और इस सोच ने उन्हें और उकसाया की चमड़े को रीसायकल कर अगर उन्हें उपयोगी बनाया जाये तो पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाया जा सकता है | अपना शू लॉन्ड्री (Shoe Laundary) की शुरुआत करने से पहले उनके इस योजना पर परिवार से सपोर्ट नहीं मिला |  कुछ अलग करने की चाह में शाजिया ने Entrepreneurship की और रुख किया था पर परिवार वाले उनके इस सोच को समझ नहीं पाए और उनके खिलाफ  हो गए | लोग ताने मारते थे और यही सलाह देते थे  कि ये मोची वाला काम छोड़कर कोई और काम शुरू करो |

शाजिया का उद्यमी बनने का सफ़र 

Shazia Kaisar | Revival Shoe Laundary | Revival Services | Women Empowerment | Bihar | India top blog | BiharStory-India's No.1 Digital Media House
शाजिया कैसर , रिवाइवल सर्विसेज की संस्थापक

कुछ लोग असफल होने के भय से नए कार्य की शुरूआत ही नहीं करते, जो मनुष्य नया और अलग करने का जज्बा रखता है शुरू में परेशान और असहाय तो होता है पर संसार में अपना नाम भी कर लेता है। Shazia Kaisar भी इसी सोच के साथ अपने फैसले पर आगे बढ़ी और उनको अपने  इस नए बिजनेस पर पूरा विश्वास था और उससे भी जयादा उन्हें खुद पर विश्वास था फिर पति का साथ मिलते ही दिसंबर 2014  में पटना (Patna, Bihar) के अल्पना मार्केट (न्यू पाटलिपुत्रा कॉलोनी) में 3 स्टाफ के साथ बिहार की पहली शू लॉन्ड्री “Revival Shoe Laundry” खोली जो अब Revival Services के नाम से मशहूर है |

Shazia Kaisar अपने परिवार में पहली व्यवसयिका है और बिजनेस के साथ वो सामजिक सरोकार भी रखती है| शाजिया की शू लौंड्री (Revival Shoe Laundry) टीम कचड़ा में से भी जुते उठाकर और उसकी मरम्मत करके गरीब बच्चो को दान करने का काम करती है और शाजिया ने भविष्य में एक योजनाबद्ध तरीके से इस दिशा में काम करने का मन भी बनाया है |

नेसेसिटी को नेस्सेसरी में बदलना ही लक्ष्य

शाजिया बताती है कि भारत में लेदर बिजनेस एक प्रगतिशील व्यवसाय है, और बिहार से ही न जाने कितने लोग बाहर जाकर कमाने खाने और जीविका के लिए लेदर इंडस्ट्री के लिए काम कर रहे है ऐसे में चमड़े से सम्बंधित व्यवसाय को बढ़ावा देकर लोगो का पलायन रोका जा सकता है | शाजिया के सोच है की परिवार की पुरानी परंपरा को छोड़कर लोग कुछ नया करने की सोंचे |

शाजिया (Shazia Kaisar ) ने खासकर महिलाओं को के लिए एक नया नजरिया दिया है, आमतौर पे घरेलु महिलाये बुटिक और पार्लर की तरफ जयादा आकर्षित रहती है पर आज देखे तो वहां बहुत भीड़ और प्रतियोगिता है |  महिलाओं के लिए आज के दौर में  शू लांड्री  या लेदर पोलिश एंड रिपेयर का व्यवसाय बहुत कारगर साबित होगा |

शाजिया के बढ़ते कदम 

Shazia Kaisar | Revival Shoe Laundary | Revival Services | Women Empowerment | Bihar | India top blog | BiharStory-India's No.1 Digital Media Houseइनके अनोखे प्रयासों और शानदार सोच  के लिए शाजिया कैसर को बिहार इंडस्ट्रियल एसोसिएशन ( BIA ) और 2016  में सिनेमा इंटरटेनमेंट ने सशक्त नारी अवार्ड (Women Empowerment) से सम्मानित किया है. शाजिया ने बिहार स्टोरी से बताया कि उन्होंने बिजनेस तो शुरू कर लिया था पर अभी भी प्रबंधन समझ  नहीं आ रहा था कि कहा कितना खर्च करना चाहिए और कहाँ कटौती की जरूरत है बहुत सी बातें थी जिसका समाधान करना जरूरी था और ऐसे में उन्हें इंडियन एंजेल नेटवर्क से मदद मिली और IAN के हरि बाला सुब्रमन्यम जी आज उनके मेंटर है |

Shazia Kaisar | Revival Shoe Laundary | Revival Services | Women Empowerment | Bihar | India top blog | BiharStory-India's No.1 Digital Media House
The Prime Minister, Shri Narendra Modi releasing a book titled “Change Makers”, at the 10th Civil Services Day function, in New Delhi on April 21, 2016. Saziya’s Revival Shoe Laundry start up  is selected from Bihar.

यही नहीं सिविल सर्विसेज डे-2017 के मौके पर जारी सक्सेस स्टोरीज की किताब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा उद्घाटन किया गया है. इसमे स्टार्टअप इंडिया इनिशिएटिव के तहत देशभर में 6 स्टार्टअप्स की सक्सेज स्टोरी प्रकाशित की गई है, इन 6 चयनित स्टार्टअप्स में शाजिया कैसर का नाम भी है.  शाजिया अब विश्व पटल पर भी चर्चा में आ चुकी है , शाजिया के अनुसार हाल  में ही इनका चुनाव International forum के सदस्य के रूप में किया गया है | तमाम मुश्लिको के बावजूद शाजिया ने साबित कर दिखाया की जहाँ चाह है वहां राह है |

FACEBOOK PAGE OF REVIVAL SERVICES

Manoj Kr Gupta

Editor at BiharStory
Manoj Kr Gupta is young professional and passionate writer at BiharStory.in .
Manoj Kr Gupta

Latest posts by Manoj Kr Gupta (see all)