चिकित्सा ही एक ऐसा नेक और पावन कार्य है जिससे लोगों को जीवन मिलता है | हमारे समाज में डॉक्टर को भगवान का दर्जा दिया गया है। डॉक्टर को जीवन रक्षक माना जाता है। मेडिकल की डिग्री लेने और इसकी पढाई पर अथाह खर्च करने के बाद जब कोई डॉक्टर बनता है तो उनके पास हजारों सपने होते है उनका बड़ा नाम, बड़ा क्लिनिक, शोहरत उन्हें अक्सर लुभाता है पर बात करेंगे एक ऐसे डॉक्टर के बारें में जिसने अपने डॉक्टर बनने का सपना सिर्फ इसलिए देखा ताकि वो नि:स्वार्थ भाव से समाज के लोगो तक स्वस्थ सेवा पंहुचा सके और स्वास्थ के प्रति लोगो को जागरूक बना सके ।

Dr.Sanjay Kumar Singh | Free Health Camp | Social Work | King George Medical College, Lucknow | Bhojpur, Bihar | BiharStory-India's No.1 Digital Media House

डॉ संजय कुमार सिंह चला रहे है निःशुल्क स्वस्थ सेवाएँ

ये उनके हौसले और चट्टानी संकल्प का परिणाम है की भोजपुर (Bhojpur, Bihar) जिले के दलीपपुर गाँव के डॉ संजय कुमार सिंह (Dr.Sanjay Kumar Singh) एक समर्पित चिकित्सक और समाज सेवक (Social Work) के रूप में न सिर्फ अपने गाँव और जिले में बल्कि बिहार (Bihar) के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य संबंधी शिविर और जागरूकता फैलाने के साथ-साथ लोगों के अभिभावक और दोस्त बनकर भी उनकी सहायता कर रहे है और लगातार अपना प्रयास जारी रखे हुए हैं।Dr.Sanjay Kumar Singh | Free Health Camp | Social Work | King George Medical College, Lucknow | Bhojpur, Bihar | BiharStory-India's No.1 Digital Media House

डॉ. संजय (Dr.Sanjay Kumar Singh) अपने पेशे से अलग हटकर भी ग़रीबों की आर्थिक रूप से मदद करते हैं। वे असहाय और लाचार लोगों के लिए अपनी ओर से फ्री हेल्थ कैंप (Free Health Camp) का आयोजन कर गरीबों की जांच करते हैं और उनका इलाज करते है |

कैसे हुयी शुरुवात

डॉ संजय कुमार सिंह (Dr.Sanjay Kumar Singh) 1999 में लखनऊ किंग जोर्ज मेडिकल कोलेज (Lucknow King George Medical College) से MBBS की डिग्री ले चुके है | संजय जब अपने गाँव में पहुचे तो उन्होंने अपने पंचायत (दलीपपुर) जो की जगदीशपुर प्रखंड के अंतर्गत आता है वहां सरकारी चिकत्सा तंत्र और इसके खस्ताहाल हालत देखी और जिस चीज़ ने उन्हें बहुत प्रभावित किया वो थी वहां के मरीजो की बुरी हालत| बच्चे, बूढ़े और महिलाओं को स्वस्थ सेवाओं की बुनयादी सुविधाओं और जरूरतों के लिए भी मोहताज़ रहना पड़ता था और न ही कोई जानकारी थी| डॉ संजय (Dr.Sanjay Kumar Singh) का कहना है कि उन्हें जो भी कुछ मिला है वह इस समाज से मिला है और इसलिए चाहे जो हो जाये वे समाज को अपने चिकत्सा सेवा द्वारा लौटाने का प्रयास करते रहते हैं।Dr.Sanjay Kumar Singh | Free Health Camp | Social Work | King George Medical College, Lucknow | Bhojpur, Bihar | BiharStory-India's No.1 Digital Media House

तीन हज़ार से ज्यादा मरीजों का किया मुफ्त इलाज

डॉ. संजय कुमार (Dr.Sanjay Kumar Singh) झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले शहरी व ग्रामीण लोगों के लिए सवास्थ सेवा शिविर और जागरूकता अभियान का आयोजन करते रहे हैं। डॉ. संजय अपने गाँव पर भी नियमित रूप से स्वस्थ जागरूकता अभियान चलाते है वो बताते है की उनके क्लिनिक पर जब भी वो कैम्प लगाते है तो 10 किलोमीटर की परिधि में रहनेवालों मरीजो का मुफ्त इलाज हो जाता है और अब तक वो तीन हज़ार से भी जयादा मरीजो का इलाज वो कर चुके है | उनके क्लिनिक पर ब्लड सुगर, ब्लड प्रेशर की जांच  मुफ्त होती है और मुफ्त ECG की भी व्यवस्था है |

डॉ संजय स्वास्थ्य संबंधी विषयों के बारे में न सिर्फ लोगों को  जागरूक करते है , अपने मरीज़ों को देखने के अलावा समाज के प्रति अपनी अन्य ज़िम्मेदारियों को भी पूरी करते है |Dr.Sanjay Kumar Singh | Free Health Camp | Social Work | King George Medical College, Lucknow | Bhojpur, Bihar | BiharStory-India's No.1 Digital Media House

चिकित्सा क्षेत्र में समाज सेवा (Social Work) का रास्ता चुनकर डॉ संजय कुमार सिंह (Dr.Sanjay Kumar Singh) ने एक मिसाल दिया है, पीड़ितों व रोगियों की सहायता व सेवा को अपना उत्तरदायायित्व समझ कर जनसाधारण की सेवा करने वाले डॉ संजय जैसे व्यक्तित्व का आज समाज को जरूरत है | कोई जरूरी नही कि आप डॉक्टर बनकर सिर्फ समाज सेवा (Social Work) करे पर चिकित्सक अपने दिनचर्या में से कुछ समय समाज के लिए भी निकाले तो हमारे समाज का चिकित्सा के क्षेत्र में कायापलट हो सकता है |