हम अक्सर अपने आस – पास के लोग जो कर रहे होते है   उन्ही चीजों के बारें में सोचते है और करते भी है , नए चीजों को करने में रिस्क होता है इसलिए हम उधर ध्यान ही नहीं देते |  पर कुछ लोग ऐसे होते हैं जो धारा के विपरीत दिशा में तैरते हुए अपने आत्मविश्वास के बल पर कुछ ऐसा करने की सोचते हैं जो पहले कभी भी आजमाया नहीं गया हो और अपनी लगन और कुछ कर गुजरने की चाह में उसमें कामयाब भी होते हैं। ऐसा ही कुछ कर रही है भागलपुर जिले की 27 वर्षिय ‘ मुग्धा सिंह ‘ जो पटना के बोरिंग रोड में रहती है और  जिन्होंने अपने घर से ही एक स्टार्टअप की शुरुवात की है जिसका नाम  MAD है |जिसके अंतर्गत मुग्धा अच्छे ब्रांड्स के  कीमती फूटवियर , लेदरबैग्स तथा अन्य सामग्रियां कम्पनियों से बात करके सीधे ग्राहकों को लगभग आधे दामों पर उपलब्ध करा रही  है | 

MAD Art Designs -Mugdha Singh -Bhagalpur -BiharStory is best online digital media platform for storytelling - Bihar | India

MAD का बिजनेस आईडिया

मुग्धा (Mugdha Singh) भागलपुर (Bhagalpur, Bihar) जिले के कहलगांव की रहने वाली है, पर उनका पढाई – लिखाई पटना (Patna, Bihar) में ही हुआ | मुग्धा निफ्ट से स्नातक करना चाहती थी क्योंकि फैशन डिजाइनिंग उनका सपना था पर उस सपने को वो पूरा नहीं कर सकी | Mugdha Singh हमेशा से कुछ क्रिएटिव और नया करना चाहती थी अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद यह आईडिया आया कि क्यूँ न एक ऐसा प्लेटफ़ॉर्म तैयार किया जाये जहां महिलाओं को आज के आर्ट और डिजाईन के मुताबिक  उनके मनपसंद Footwear & Handbags सस्ते दामों पर उपलब्ध कराया जाये और एक ही जगह उनके सारे मनपसंद सामान भी मिल जाये| अपना स्टार्टअप खोलने से पहले मुग्धा देश – विदेश तक घूम आई है |अपनी सोच को वास्तविकता में बदलने के लिये उन्होंने कुछ महीने मार्केटिंग रिसर्च कर बिज़नेस की समझ ली और इस आइडिया को जमीं पे उतारा और नाम दिया Mad Art Designs ” (MAD).

प्रोडक्ट सेल करने की नयी सोच

उनकी यह नयी सोच शॉपिंग के दायरे में आते हुए भी परम्परागत शॉपिंग से बिलकुल अलग है, इसलिए उन्होंने बेचने और सेल लगाने का नया तरीका भी सोचा। Mugdha Singh बताती है कि महिलाएं बहुत सोच – समझ कर किसी सामान को खरीदती है किस दुकान से लिया जाए, क्या यह महँगा तो नहीं दे रहा है, लेना च्छा रहेगा या नहीं, अगर ख़रीदा तो ऐसा तो नहीं जो सामान ख़रीदा वो नकली ब्रांड हो … आदि अनेकों दुविधाओं से जूझती हैं। इन सवालों पर विचार करते हुए संभवी के दिमाग में अपने बिज़नेस के लिए नया आइडिया सूझा। MAD के लिए उन्होंने अपने कुछ जान – पहचान वालों से संपर्क किया और उनका भरोसा जीता और साथ ही वो उनको अपने प्रोडक्ट के बारे में जानकारी देकर किसी एक खास जगह पर सेल काउंटर या स्टाल लगाने पर जोर दिया | 

MAD की पहली सेल

इसी क्रम में दिसंबर 2016 में  कहलगांव के NTPC के फ़ूड फेयर में Mad Art Designs की पहली बार स्टाल लगी | मुग्धा को यहाँ नया अनुभव मिला और उनका आत्मविश्वास भी बढ़ा | उन्हें अपनी सोच पर पूरा भरोसा था और अपने नए तजुर्बे के साथ अपने काम को आगे बढाया । Mad Art Designs के प्रोडक्ट 400 रूपये से लेकर 800 रूपये में उपलब्ध हो जाते है जिनकी शॉप में 1000 से लेकर 2500 में बिकती है इसलिए धीरे – धीरे MAD का सेल बढ़ने लगा |MAD Art Designs -Mugdha Singh -Bhagalpur -BiharStory is best online digital media platform for storytelling - Bihar | India

अप्पार्टमेंट्स में भी लगते है MAD का सेल

मुग्धा और उनकी दोस्त साक्षी सिंह अपने सपनों को पूरा करने में जी जान से लगी हुयी है , मुग्धा बताती है कि उनका Mad Art Designs स्टाल पटना के महिला उद्योग मेला भी लगता है और जब भी ऐसे जगहों पर Mad Art Designs के सेल लगते है वहां से काफी अच्छा बिक्री होती है और उन्हें इस बात की ख़ुशी होती है की उनके प्रोडक्ट्स की मार्किट में बहुत डिमांड  है | मुग्धा ने  बिहार स्टोरी को बताया कि पटना के बहुत सारे बड़े – बड़े अप्पार्टमेंट्स में उनकी टीम सेल लगा चुकी है और काफी बिक्री होती है |

MAD Art Designs -Mugdha Singh -Bhagalpur -BiharStory is best online digital media platform for storytelling - Bihar | India

आगे की सोच

मुग्धा बताती है कि भले ही वो छोटे से गांव में पैदा हुयी है  पर बचपन से ही सपना था कुछ कर दिखाने की, कुछ बनने की, दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाने की, एक अलग मुकाम हासिल करने की और अपने  मेहनत, लगन, कोशिश व हिम्मत से वह अपना  सपना पूरा कर के रहेंगी  मुग्धा बताती है कि बहुत जल्द वो Mad Art Designs के प्रोडक्ट्स ऑनलाइन मार्केट में उतरेंगी और अपने ब्रांड को  एप्प और  वेबसाइट पर भी उपलब्ध कराएंगी | मुग्धा अभी यह स्टार्टअप (Mad Art Designs) अपने घर से ही चलाती है और उनकी टीम अच्छा कमाई भी करती है पर बहुत जल्द वो एक फैंसी स्टोर भी खोलने वाली है जहाँ एक ही छत के निचे महिलाओं के लिए सब कुछ उपलब्ध हो |