सफलता किसी उम्र का मोहताज़ नहीं होता, और न हीं सफलता सिर्फ चेहरे की झुर्रियों से तय होती है | खुली आंखों से अपने अंदाज में दुनिया को देखने वाले युवा भी कभी कभार ऐसे चमत्कार कर देते हैं कि उनकी प्रतिभा को सलाम करने का मन कर देता है | आज चर्चा कर रहे है  एक नन्हे  बिजनेसमैन रेयान  के  युट्यूव चैनल की  जिसने तमाम दिग्गजों को पछाड़ कर  सबसे ज्यादा  कमाई करने वाले चैनलों की लिस्ट में शामिल हो गया है ।

 

आपको जानकर यकीन नहीं होगा कि महज छह साल के बच्चे ‘Ryan’ के यूट्यूब चैनल ने बड़े-बड़े मीडिया संस्थानों को कमाई में पीछे छोड़ दिया है।

कुछ इस तरह से सुरुवात हुई  ‘रेयान टॉयज रिव्यू’  चैनल की 

उसके मम्मी पापा जब उसके लिए खिलौने लेकर आते थे तो वह खिलौनों को बॉक्स से निकालता था | इस दौरान वे लोग उसका वीडियो भी बना लेते, और बाद में ये वीडियो यूट्यूब पर अपलोड कर देते |शुरुआत में में जब रेयान ने पहला विडियो अपलोड किया था तो बहुत कम लोगों ने उसे देखा था। लेकिन धीरे-धीरे उसके वीडियो वायरल होते गए और वह एक सेलिब्रिटी बन गया |

रेयान के पास है  एक करोड़ सब्सक्राइबर

2015 में जब रेयान ने पहला विडियो अपलोड किया था सिर्फ छह महीने के बाद जनवरी, 2016 में रेयान के यूट्यूब चैनल पर एक लाख  फॉलोअर्स हो गए | उसके एक साल बाद यह संख्या बढ़कर पांच लाख की ही गई | अभी जब 2017  खत्म होने को है, तो रेयान के पास 1 करोड़ सब्सक्राइबर हैं |

अगर देखा जाए तो रेयान का काम बहुत  दिलचस्प है | उसे खिलौने के बॉक्स खोलने और उसके साथ खेलने के भी पैसे मिलते  हैं | इतना ही नहीं रेयान के जिन वीडियोज के व्यूज ज्यादा होते हैं, उस वीडियो में दिखाए गए खिलौने की डिमांड भी बढ़ जाती है। रेयान के चैनल पर सिर्फ उसके खिलौनों के रिव्यूज ही नहीं होते, बल्कि उसके मम्मी-पापा उसके कई क्रियाकलापों के भी वीडियो बनाकर दिखाते भी हैं | उसे फोर्ब्स मैग्जीन में सबसे ज्यादा कमाने वाले यूट्यूबर्स में आठवां स्थान मिला है

2017 में  कमाए 77  करोड़ रुपये

आपको जानकर यकीन नहीं होगा कि महज छह साल के बच्चे रेयान  के यूट्यूब चैनल ने बड़े-बड़े मीडिया संस्थानों को कमाई में पीछे छोड़ दिया है | 2016-17 में रेयान को लगभग 11 मिलियन डॉलर यानी कि 77 करोड़ रुपयों के आसपास की कमाई हुई है |

 

 

 

niraj kumar

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar