गुरु द्रोणाचार्य से लेकर देश के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद जैसे विभूतियों को देने वाला बिहार के  सिवान जिलें  की मिटटी ही ऐसी है,इस माटी से अनेक लाल पैदा हुए जिसने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी छाप छोड़ी | आज की स्टोरी एक ऐसे ही  शख्स के बारें में है जो सिवान के एक छोटे से गाँव ( संठी ) से निकल कर  लन्दन , दुबई, अमेरिका और न जाने और कितने ही  देशों में अपनी जमीं को गौरवान्वित कर देश का नाम रोशन कर रहे है  और इनका नाम है डॉ राजीव कुमार सिंह ( CMD -Sai Physiotherapy Center Patna) जिन्होंने  पंद्रह साल पहले अपने करियर की शुरुवात की और महज 35 साल की उम्र में कामयाबी की नई इबारत लिख रहे है |

फिजियोथेरेपिस्ट (Physiotherapist) -डॉ राजीव कुमार सिंह (Dr. Rajeev Kumar Singh) -Siwan -BiharStory is best online digital media platform for storytelling - Bihar | India

 पेशे से है डॉक्टर पर लाचारों के मददगार भी

राजीव कुमार सिंह (Dr. Rajeev Kumar Singh) पटना (Patna, Bihar) में बोरिंग कैनाल रोड स्थित “साईं हेल्थ केयर फिजियोथेरेपि एंड पेन मनेजमेंट क्लिनिक” (Sai Health Care Physiotherapy & Pain Management Clinic) के संस्थापक है | राजीव मूलतः बिहार के सिवान (Siwan, Bihar) जिला के संठी गाँव के रहने वाले है | इनके पिता का नाम चंद्रमा सिंह है और इन्होने अपनी शुरुवाती पढाई सिवान (Siwan, Bihar) से पूरी की है , पढाई पूरी करने बाद दिल्ली के AIIMS हॉस्पिटल के फिजियोथेरेपि डिपार्टमेंट में पोस्ट ट्रेनी के रूप में कार्य किया |

डॉ राजीव (Dr. Rajeev Kumar Singh) के मुताबिक, साल 1992 में उनके पापा का दार्जिलिंग में एक्सीडेंट हो गया था , जिसमें उन्हें गंभीर चोटें आई थी । हड्डी के इलाज के बाद डॉक्टरों ने फिजियोथेरेपी करने की सलाह दी। उस वक्त राजीव पढ़ाई कर रहे थे। फिजियोथेरेपी के माध्यम से पापा ठीक हो गये, इसके बाद राजीव ने और  दिल्ली से २००7  में फिजियोथेरेपि की पढ़ाई पूरी की | और अब वे आम से लेकर खास तक का इलाज कर रहे हैं।

फिजियोथरेपी की शुरुआत अखिल भारतीय फिजियोथेरेपी परिषद से करते हुए डॉ॰ राजीव ने अपनी एक ऐसी पहचान बनायीं है जो डॉक्टरी से  कहीं चार कदम आगे है| डॉक्टर के रूप में एक बेहतर चिकित्सक और प्रभावी ईलाज से लोगों  में विश्वास की दौलत तो उगाई ही है पर अपने व्यस्त प्रोफेशन से परे समाज के एक तबके के लिए जो डॉ राजीव करते है उस कार्य के लिए वो ज्यादा जाने जाते है, लाचारों की मदद करना, गरीबों का मुफ्त इलाज करना, बेबसों को मदद करना, निःशुल्क कैम्प लगाना |

डॉक्टरी के  पुराने मापदंडों से खुद को ऊपर उठा कर डॉक्टर राजीव सिंह (Dr. Rajeev Kumar Singh) ने जो उदहारण पेश किया है निःसंदेह  कहा जा सकता  हैं,  कि जीतने वाले कुछ अलग काम नहीं करते बल्कि अलग तरीके से  करते है और वैसे ही लोगों में से एक शख्सियत है डॉ राजीव, जिनके अलग अंदाज ने केवल बिहार (Bihar) नहीं, केवल देश नहीं बल्कि बॉलीवुड जगत से लेकर इंटरनेशनल जगत में भी बहुत सारें लोगो का दिल जीता है |

मिला देश – विदेश में सम्मान

फिजियोथेरेपिस्ट (Physiotherapist) -डॉ राजीव कुमार सिंह (Dr. Rajeev Kumar Singh) -Siwan -BiharStory is best online digital media platform for storytelling - Bihar | India

डॉ राजीव (Physiotherapist, Dr. Rajeev Kumar Singh) दिल से अपने और मरीजों  की सेवा करते है वो हर वो उपाय करते है जिससे लोगो को जल्द से जल्द दर्द से छुटकारा मिल जाये | इन्ही सेवा भाव का फल है कि उन्हें वर्ष 2015 मे बेस्ट फिजियोथेरेपि अवार्ड श्रीलंका में मिला,वर्ष 2016 दुबई में, वर्ष 2017 में यूथ आइकन अवार्ड (Best Icon Award) लन्दन में मिला और आगामी 22 फरवरी 2018 को स्कॉट एंड गाइड के द्वारा लार्ड पावेल वेडन अवार्ड राष्ट्रपति के हाथों मिलने वाला है|

बॉलीवुड में भी है डॉ राजीव के दीवाने

फिजियोथेरेपिस्ट (Physiotherapist) -डॉ राजीव कुमार सिंह (Dr. Rajeev Kumar Singh) -Siwan -BiharStory is best online digital media platform for storytelling - Bihar | India

लोकप्रिय फिजियोथेरेपिस्ट और समाजसेवी डॉक्टर राजीव सिंह (Physiotherapist, Dr. Rajeev Kumar Singh) के ट्रीटमेंट का जादू बॉलीवुड की हस्तियों पर भी चल चूका है | ज्ञात हो कि फिल्मस्टार गोविन्दा इनके दोस्त है और कई बार वह क्लिनिक पर भी आ चुके है| जॉन अब्राहिम, दीपिका पादुकोण , प्रेमचोपड़ा आदि का भी इलाज डॉक्टर राजीव सिंह (Physiotherapist, Dr. Rajeev Kumar Singh) कर चुके है और इनके इलाज से उन्हें फायदा भी हुआ है | पटना (Patna, Bihar) में साईं फिजियोथैरेपी सेंटर के सीएमडी डॉक्टर राजीव सिंह की (Physiotherapist, Dr. Rajeev Kumar Singh) अपने आप में  एक अलग पहचान हैं ,हंसमुख और मिलनसार डॉ राजीव बहुत सारे NGO में अपना मुफ्त योगदान देते है और जो भी मरीज आते हैं उन्हें ठीक करने की कोशिश में जी जान लगा देते है | डॉ राजीव इंडियन क्रिकेट टीम के प्लेयर्स से भी हुए हैं और जरूरत पड़ने पर मुंबई जाकर उनका इलाज करते हैं।

महीने में कम से कम एक बार निःशुल्क  कैम्प

डॉ राजीव लोगो की सहायता करने के लिए सदैव तत्पर रहते है उनका खुद का कोई एन.जी ओ नहीं है पर दुसरे एन.जी ओ जो समाज के लिए वास्तव में कुछ अच्छा कर रहे है उसे हर संभव मदद करते है इसके लिए वे बकायदा गेस्ट बन कर खुद जाते है और जब वे पूरी तरह संतुस्ट हो जाते है की वाकई इन लोगों को मदद की आवश्यकता है निः संकोच मदद करते है|

बिहार स्टोरी (Bihar Story) को टीम को उन्होंने बताते हुए कहा कि महीने में वो एक बार  कैम्प लगाते है जिसमे निः शुल्क फिजियोथेरेपि की सेवा देते है जिसमे बिहार (Bihar) से ही नहीं दुसरे राज्य से भी लोग इस सेवा का लाभ लेने आते है |यही नहीं इन्होने मायानगरी कही जाने वाली नगर मुंबई में भी हेल्थ कैंप लगा कर उपचार किया था | बालीवुड और खेल जगत के नामी-गिरामी हस्तियों को ये अपनी सेवा दे चुके  है| इन्होने इंडियन क्रिकेट में भी फिजियोथेरेपिस्ट (Physiotherapist) के रूप में अपना सेवा दिए है और बालीवुड के  साथ में वे सलमान खान के बीइंग ह्यूमन (Being Human) के साथ जुड़कर अपना सहयोग देते है|

पेन फ्री बिहार का है सपना

डॉ राजीव बताते है की उन्होंने पेन फ्री लाइफ नाम से एक एसोसिएशन बनाया है, जिसमें पूरे राज्य से एक-एक यूथ फिजियोथेरेपी डॉक्टरों (Physiotherapist) को जोड़ा हुआ है। इसके लिए एक मिस्ड कॉल नंबर जारी किया, जो मरीज इस नंबर पर मिस्ड कॉल करते हैं या एसएमएस करते हैं, उन्हें फोन कर परेशानी नोट की जाती है। फिर जिस जिले से लोग फोन करते हैं वहां संबंधित यूथ डॉक्टर को भेज कर उस व्यक्ति का फ्री में इलाज होता है। एसोसिएशन में 20 यूथ डॉक्टर्स शामिल हैं।

niraj kumar

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar

Latest posts by niraj kumar (see all)