अक्सर एसा देखा जाता है, असफल होने के लिए हम कई चीजों को जिम्मेदार ठहरा देते है | कभी संसाधनों की कमी तो कभी मौके के अभाव को | लेकिन सच्चाई ये है की जिसे ऊँची उडान भरनी होती है उसे हवा के रुख से ज्यादा अपने पंखो पर भरोसा होता है | एसी ही है  प्रतिभावान सुरभि गौतम जिन्होंने अपने जीवन के सभी परीक्षाओं में टॉप की है| २०16 की सिविल सर्विसेस में 50वी रैंक हासिल करने वाली सुरभि  गौतम की कहानी उन सब के लिए एक हौसले की तरह है जो आगे बढ़ने के लिए जी-तोड़ मेहनत कर रहे हैं |

Nuclear Scientist - IAS Surbhi Gautam - BiharStory is best online digital media platform for storytelling - Bihar|India

सुरभि (IAS, Surbhi Gautam) मूलतः मध्य प्रदेश के सतना जिले के छोटे से गाँव अमदरा की रहने वाली है| इन्होने अपनी बारहवीं तक की पढाई अमदरा के ही सरकारी स्कुल से की जहाँ पड़ न तो क्लास की वयवस्था थी न ही स्कुल में शिक्षक नियमित आते थे उनके गाँव में बीजली की व्यवस्था भी नहीं थी लेकिन वो लालटेन की रौशनी से ही सफलता का परचम लहराती चली गई इनकी कड़ी मेहनत का ही नतीजा था की 10वीं बोर्ड में 93.5 फीशदी अंक आये तभी उन्होंने ठान लिया था की वो एक दिन एस देश की सर्वोच्च परीक्षा में भी सफलता हासिल करेगी|

12वीं के बाद स्टेट इंजनियरिंग एग्जाम में सफलता के बाद शहर के सरकारी कॉलेज में दाखिला लिया यहाँ पड़ भी अपने हुनर को दिखाते हुए विश्वविद्यालय में टॉपर बनी सुरभि (IAS, Surbhi Gautam) इंजनियरिंग करने के बाद भाभा एटॉमिक रीसर्च सेंटर जैसे टफ इंटरव्यू क्लियर किया वहां पर बतौर न्युक्लियर साइंटिस्ट जुडी रही उसके बाद वो GAIL, ISRO, MPPSC, SSC जैसे कठिन एग्जाम क्लियर किये लेकिन उनका सपना था IAS ऑफिसर बनना और उन्होंने खुद से वादा भी किया था की अपना 25वां जन्मदीन मसूरी के लाल बहादुरशास्त्री नेशनल अकेडमी ऑफ़ एड्मिनिस्ट्रेशन में मनाएंगी और उन्होंने अपना सपना साकार किया |

उन्होंने 2013 में IES एग्जाम में 1st रैंक हासिल की थी हलाकी उन्होंने अपनी तयारी IAS के लिए की थी | इसके लिए उन्होंने एग्जाम का इंतजार किया और 2016 में 50वीं रैंक के साथ सिविल सर्विसेस एग्जाम क्लियर किया|

उनकी ये सफलता का सफ़र इतना आसां भी नहीं था उनकी इस सफ़र में मुश्किलों का एक दौर भी आया था जब उन्हें किसी बीमारी ने जकड लिया था और उन्हें हर पन्द्रहवें दिन पर हैवी डोज के इंजेकशन लगते थे जिसके परिणाम में वो तिन से चार दिन तक बुखार में तपती रहती थी फिरभी उन्होंने अपने पढाई को जारी रखा|

Manoj Kr Gupta

Editor at BiharStory
Manoj Kr Gupta is young professional and passionate writer at BiharStory.in .
Manoj Kr Gupta

Latest posts by Manoj Kr Gupta (see all)