सत्तू का नाम सुनते ही लोग इसे बिहार या फिर यूपी से कनेक्ट करने लगते हैं। सत्तू अपने आप में एक समपूर्ण आहार माना जाता है। क्या आपने कभी सत्तू का स्वाद चखा है? इसके कई गुणों के कारण गर्मी के दिनों में सत्तू का सेवन कई स्थानों पर किया जाता है। यूं तो सत्तू यूपी व बिहार में काफी प्रसिद्ध है ही, लेकिन इसके गुणों की हाहाकार देश के कई राज्यों में है। बिहार के लोगों के अलावा भी अन्य लोग भी इसे काफी खुश होकर खाते हैं। सत्तू को लोग कई तरह से खाते हैं। कोई इसका शरबत बनाकर पीता है तो कोई इसके स्वादिष्ट व्यंजन बनाकर खाते हैं |

Sattu -Fastfood of Bihar & Uttarpradesh -BiharStory is best online digital media platform for storytelling - Bihar | India

सत्तू एक गुण अनेक

सत्तू (Sattu) को इतना पसंद किए जाने का कारण सिर्फ इसका स्वाद ही नहीं है बल्कि सेहत से जुड़े यह अनमोल फायदे भी हैं |जौ और चने के मिश्रण से बने सत्तू को पीने से मधुमेह रोग में लाभ होता है | सत्तू (Sattu) कफ, पित्त, थकावट, भूख, प्यास और आंखों की बीमारी में लाभकारी है। डॉक्टरों की मानें तो यह पेट के रोगों के लिए फायदेमंद होता है | विशेषज्ञों के अनुसार सत्तू (Sattu) आहार है, औषधि नहीं इसीलिए इसका कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होता | चने का सत्तू (Sattu) गर्मी में पेट की बीमारी और तापमान को नियंत्रित रखने में मदद करता है | सत्तू में फाइबर, कार्बोहाईड्रेट, प्रोटीन, स्टार्च और अन्य खनिज पदार्थ होते हैं | इसे पानी के साथ लेने से पेट ठंडा रहता है। चने के सत्तू (Chane ka Sattu) में मूंग और सोया मिला लेने से सत्तू सेहत के लिए और फायदेमंद हो जाता है | सत्तू में रक्तसाफ करने का गुण होता है जिससे खून की गड़बडियां दूर होती हैं |

सत्तू से बनने वाले स्वादिस्ट व्यंजन

वैसे तो आप सत्तू (Sattu) को ठोस और तरल, दोनों रूपों में ले सकते हैं पर आप सत्तू से बहुत तरह के स्वादिस्ट व्यंजन भी बना सकते हैं जैसे सत्तू की कचौड़ी, सत्तू का पराठा, सत्तू का लड्डू, नमकीन या मीठा शरबत यदि आप चने के सत्तू को पानी, काला नमक और नींबू के साथ घोलकर पीते हैं, तो यह आपके पाचनतंत्र के लिए फायदेमंद होता है |

Sattu -Fastfood of Bihar & Uttarpradesh -BiharStory is best online digital media platform for storytelling - Bihar | India
सत्तू (Sattu) के सेवन से ज्यादा तैलीय खाना खाने से होने वाली तालीफ खत्म हो जाती है और तेल निकल जाता है |

इसमें बहुत पोषण होता है इसलिए बढ़ते बच्चों को जरूर दे

सत्तू (Sattu) के सेवन से ख़ासकर गर्मी के मौसम में पेट की समस्याओं से निजात पाया जा सकता है | चने से बनने वाले सत्तू के गुणकारी परिणाम से आज यह आम वर्ग के साथ साथ सुविधा सम्पन्न लोगों की पहली पसन्द बनता जा रहा है | बाज़ार में बिकने वाले शीतल पेय पदार्थ लोगों को आकर्षित तो कर सकते हैं, लेकिन गर्मी के मौसम में संतुष्ट करके स्वास्थ्य नहीं दे सकते बल्कि हानिकारक होते है, जबकि चने से बना सत्तू (Sattu) गर्मी से निजात दिलाने के साथ साथ शरीर के लिए काफ़ी लाभदायक है और तो और ये सारे वर्ग के लोगों के बजट में भी फिट बैठता है |

Niraj Kumar
Latest posts by Niraj Kumar (see all)