Share Story :

मित्रों अगर आप किसी गरीब के भूखे बच्चे को भर पेट खाना खिलाते हैं तब आप उस बच्चे की क्षणिक समस्याओं का हीं समाधान करते हैं क्योंकी भूख दुबारा भी लगती है, पर अगर आप उस बच्चे को शिक्षित करते हैं सही मार्ग दर्शन देते हैं तब आप उस बच्चे की जिंदगी से गरीबी नामक बीमारी को हमेशा के लिए दूर कर देंगे | कुछ एसा ही सराहनिए कार्य कर रहे हैं बिहार भभुआ के रहने वाले पंकज कुमार | पंकज उन बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा दे रहे  है जो बच्चे स्कूल में कमजोर हैं लेकिन आर्थिक तंगी के कारण ट्यूशन नहीं कर सकते हैं |

युवाओं के लिए मिसाल बने पंकज कुमार

भभुआ निवासी पंकज कुमार आज जिले में एक मिसाल के रूप में उभर रहे हैं, जो आर्थिक रूप से तंग परिवार के बच्चो को न सिर्फ मुफ्त में ट्यूशन उपलब्ध कराते है बल्कि उन्हें जरूरत के हिसाब कॉपी-किताबे और कलम आदि भी निःशुल्क उपलब्ध कराते हैं | पेशे से एक शिक्षक पंकज का यह जज्बा यहाँ तक पहुँच गया है कि अब वह बच्चों को स्कूली पढाई के साथ साथ उन्हें कम्प्यूटर शिक्षा भी दे रहे है | पंकज कुमार इंस्टिट्यूट भी खोल रखे है, जिसमे वे बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देते हैं |

आज के युवाओं को दिए सन्देश

आज के समय युवा पीढ़ी मोबाइल और इन्टरनेट पर अपना कीमती समय फिजूल में चैटिंग कर बर्बाद कर दे रहे हैं | ऐसे में खाली समय में अपनी शिक्षा और सामर्थ्य के हिसाब से गरीब और तंगी झेल रहे असमर्थ परिवार के बच्चो को अगर वे शिक्षित कर दें रहे हैं ताकि आने वाले समय में एक शिक्षित समाज का निर्माण हो सकें | वहीं पंकज कुमार के इस जज्बे और साहस को अब स्थानीय लोग भी कद्र कर रहे हैं और उसकी जमकर सराहना करते हैं |

niraj kumar

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar
Share Story :