स्वामी विवेकानंद ने हर भारतीय को कहा था की अपनी धरोहर को छेड़ो मत और आधुनिकता को छोड़ो मत यानी कि आप जितना हो सके आधुनिक ज्ञान को अर्जित और वैश्वीकरण के इस युग में अंग्रेजी भाषा कितना महत्वपूर्ण है और ये बात किसी से छिपी भी नहीं है |अंग्रेजी की राह आसान बनाकर पटना (Patna) के ही तेज -तरार अंग्रेजी के युवा शिक्षक राम विजय कृष्णा (Ram Vijay Krishna) जो पिछले तीन वर्षो में लगभग 500 से ज्यादा बच्चों को अंग्रेजी सिखा चुके है |

Ram Vijay Krishna teaches english more than 500 students, English on Demand -Patna -BiharStory-India's No.1 Digital Media House

 

पैसे के लिए नहीं आंतरिक ख़ुशी के लिए पढ़ाते हैं विजय राम कृष्णा

मूल रूप से पटना (Patna) के रहने वाले राम विजय कृष्णा (Ram Vijay Krishna) की शुरुवाती पढाई का सफर पटना (Patna) के Blue Bells Academy से शुरू हुई फिर Sir Ganesh Dutt Memorial College से बारहवी तक की पढाई किये | शिक्षकों को पढ़ाते देख राम विजय कृष्णा (Ram Vijay Krishna) का मन भी करता था काश मैं भी बच्चों को पढ़ा पाता और राम विजय कृष्णा (Ram Vijay Krishna) के बचपन की ये इच्छा गुजरते समय के साथ और प्रबल होती गई |

वो  M.B.A करने बाहर गए लेकिन राम विजय कृष्णा (Ram Vijay Krishna) का मन नहीं रमा और वापस पटना (Patna) आकर विभिन्न शैक्षणिक  संस्थाओ में पढ़ाने लगे | उनका कहना है कि बच्चों को पढ़ाने में तथा सही मार्ग दर्शन देने में जो अनुभूति होती है उसे मैं बयां नहीं कर सकता, और ये ख़ुशी तब कई गुणा और बढ़ जाती है जब उनका कोई बच्चा सफल हो जाता है |

Ram Vijay Krishna teaches english more than 500 students, English on Demand -Patna -BiharStory-India's No.1 Digital Media House

अनाथालय के बच्चों को भी देते हैं निःशुल्क शिक्षा

राम विजय कृष्णा (Ram Vijay Krishna) को जब भी अपने कार्यो से फुर्सत मिलती है वो पहुँच जाते हैं अनाथालय के बच्चों के बीच शिक्षा की ज्योत जलाने | विजय रामकृष्ण का मानना है जिन बच्चों के माता पिता हैं उन्हें किसी न किसी तरह से शिक्षा मिल हीं जाती है पर इन अनाथ बच्चों का क्या, शिक्षा पर इनका भी तो अधिकार है, तब इसे इनके अधिकार से वंचित क्यों रखा जाये | साथ ही विजय रामकृष्ण समाज को सन्देश  देते हुए कहते हैं की आज के युवा अपना कुछ समय इन अनाथ बच्चों को भी दे ताकी उनमे भी शिक्षा का संचार हो सके |

English on demand  के नाम से छात्रों को देंगे सौगात

English on demand  में न्यूज पेपर से सबंधित जितने भी नए पैटर्न के question होंगे उनका निवारण करेंगे साथ हीं बहुत जल्द के बुक भी ला रहे है जिससे बच्चों को बहुत लाभ मिलेगा | क्योकि ये बिल्कुल हीं आधुनिक होगा और बच्चों को बहुत कम कीमत में उपलब्ध होगा, एसा इस लिए की विजय रामकृष्ण (Ram Vijay Krishna) सर को पैसे से ज्यादा बच्चों के भविष्य की चिंता है जो बहुत कम शिक्षक में देखने को मिलता है | और बहुत जल्द English on demand का अपना वेबसाइट भी होने जा रहा है

Dependent नहीं independent बनो

आज के बच्चों को संदेश देते हुए विजय रामकृष्ण सर कहते हैं Dependent नहीं independent बनो क्योकि कामयाबी का कोई शार्टकट नहीं है, कामयाबी पाने के लिए आपको मेहनत के रूप में कीमत चुकानी होगी, कोई अगर आप को कहे की मै तुम्हे कामयाब कर दूंगा तब आप उनपर विश्वाश न करें सिर्फ अपने आप पर विश्वाश कर सही दिशा में मेहनत करें कामयाबी आपके कदम चूमेंगी |

niraj kumar

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar