Share Story :

ये चारो हैं बेमिसाल
आज हम बात करेंगे पटना के चार स्टंटबाज़ युवाओं की जिनकी कला देख अच्छे-अच्छों को पसीना आ जाये, वो बच्चे इस कला में तो माहिर हैं ही साथ में अपनी पढाई में भी अव्वल हैं | पटना के आकाश, प्रशांत, रवि और रोहित लाइफ ओके पर आने वाला प्रोग्राम ‘हिन्दुस्तान के हुनरबाज’ में पार्टिसिपेट कर चुकी है | अपने हैरतंगेज कारनामों से टीम ने ब्रांज मेडल अपने नाम किया था | इसमें कई डेंजरस स्टंट भी चारों ने आसानी से किया था |

अच्छे-अच्छों के होश उड़ा देते हैं

ये चारो स्टंट के दौरान चोट भी खाते हैं, पर स्टंट करना इनका पैशन है | इनके लिए 20 फीट की दीवार पर चढऩा बाएं हाथ का खेल है | जब ये टाइगर जम्प लगाते हैं तो अच्छे-अच्छों के होश उड़ जाते हैं |

हवा में उड़ता है ‘आकाश’
माली टोला, पटना का रहने वाला आकाश हवा में उड़ता है, हवा में ही वह गोते लगाता है | 20-25 सीढ़ी को वह एक झटके में फांद जाता है | आकाश एक कराटे प्लेयर है और कराटे में आकाश ने कई मेडल अपने नाम किये हैं , लेकिन जबसे आकाश ने हिन्दी फिल्म कृष देखी तबसे मन में स्टंट करने की बात बैठ गई | तभी से आकाश गंगा किनारे जाकर रेत पर प्रैक्टिस शुरू कर दिया, शुरू-शुरू में स्टंट नहीं कर पाता था, लेकिन पंकज कांबली ने आकाश को स्टंट की बारीकियाँ सिखाई, तबसे आकाश ने पीछे पलट कर नहीं देखा | कराटे सीखने और अपनी पढ़ाई का खर्च निकालने के लिए आकाश खुद घर-घर जाकर लोगों को फूल देते हैं |

प्रशांत कुमार 3 वर्ष में बन गया स्टंटमैन
पूर्वी राम कृष्णा नगर, पटना का रहने वाला प्रशांत कुमार भी आकाश की टीम में शामिल हैं | ये चारो लोग मिलकर स्टंट का शानदार नजारा पेश करते हैं | आकाश की तरह प्रशांत भी कई हैरतंगेज स्टंट करता है | प्रशांत कहता है कि मैंने 3 साल पहले ही कराटे को ज्वाइन किया था | कराटे में आने के बाद मुझे स्टंट करने की हिम्मत मिली | पढ़ाई के साथ मुझे कराटे और स्टंट अच्छे लगते हैं | वह कहता है कि मैंने नेशनल कराटे में 2 गोल्ड, 4 सिल्वर और 1 ब्रांज मेडल जीता है | वहीं स्टेट टूर्नामेंट में 4 गोल्ड, 2 सिल्वर और 5 ब्रांज अपने नाम किए हैं |

स्टंट पर रवि करता है राज
न्यू बंगाली टोला के रवि और रोहित स्टंट पर राज करते हैं | दोनों भाई जब आपस में लड़ते हैं तो देखने वालों की आंखें खुली रह जाती हैं | बिल्कुल फिल्मी अंदाज में दोनों आपस में फाइट करते हैं | दोनों साथ-साथ कराटे सीखते हैं | कुल मिलाकर चार लोगों की टीम मिलकर जबर्दस्त स्टंट दिखाते हैं | किसी भी तरह का स्टंट करना चारों के लिए आम बात है | एक बार प्रैक्टिस करने के बाद चारों आसानी से कोई भी स्टंट कर लेते हैं | रवि और रोहित बताते हैं कि ऐसा करने में चोट तो लगती है, लेकिन उसका असर हम पर नहीं पड़ता है | स्टार्टिंग में थोड़ा ज्यादा ही चोट लगती थी, लेकिन अब नहीं लगती है |

स्टंट की तरह पढाई में भी हैं अव्वल
स्टंट अपनी जगह है, लेकिन स्टडी में आकाश, प्रशांत, रवि और रोहित अव्वल है | चारो हमेशा 70 परसेंट से ऊपर मार्क्स लाते हैं | उनका मानना है कि खेल  हमें स्टडी में भी हेल्प करता है, कराटे और स्टंट करने के बाद कांसंट्रेशन बढ़ता है | इससे कोई भी चीज आसानी से याद हो जाती है या समझ में आ जाती है |

niraj kumar

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar
Share Story :