ईज्जत तो कड़वेपन की भी करनी होगी | मीठे से इश्क इतना भी न करों कि आप मीठे के ही शिकार हो जाये और वो हत्यारा दबे पाँव आपके घर में आकर अपनी जगह बना ले जिसका नाम है डायबिटीज (मधुमेह ) | शायद हीं कोई घर होगा जो इस बीमारी से अछूता हो ,एक आंकड़े के अनुसार आज हमारे देश में  लगभग सात करोड़ लोग Diabetes  से ग्रसित है | वाक फॉर लाइफ ( WALK FOR LIFE  ) भारत में  डायबिटीज के बढ़ते साम्राज्य को रोकने और डायबिटीज मुक्त भारत करने का अनोखा मुहीम है जिसे आस्था फाउंडेशन के माध्यम से चला रहे है पटना के उर्जावान शख्स ‘पुरुषोत्तम सिंह ‘ |

 जीना है तो चलना होगा ‘ वाक फॉर लाइफ ‘

कुछ लोग समस्याओं को सिर्फ देखते है पर कुछ लोग उससे भिड जाते है और ऐसे ही कुछ लोगों में शुमार है पटना के पुरुषोत्तम सिंह |  डायबिटीज इतनी बड़ी समस्या है कि पुरे विश्व में  भारत डायबिटीज में दूसरे नंबर पर आता है | इस  भीषण समस्या  ने पुरुषोत्तम सिंह को  राह दिखयी और वो निकल पड़े एक मिशन लेकर और बनाया ‘आस्था फाउंडेशन’ जो मधुमेह जैसे गंभीर बीमारी के रोकथाम के लिए कार्यक्रम और जागरूकता अभियान चलती है |

पुरुषोत्तम सिंह अपनी संस्था आस्था फाउंडेशन के वाक फॉर लाइफ (Walk For Life ) अभियान के माध्यम से जगह-जगह कैम्पेन लगा कर लोगों को जागरूक करते हैं और बताते हैं की मधुमेह से बचा जा सकता है |

पिछले पांच वर्षो से चला रहे है जागरूकता अभियान

Astha Foundation के ‘वाक फॉर लाइफ’  कैम्पेन की शुरुवात  पुरुषोत्तम सिंह ने 2013 में किया था इस दौरान पांच वर्षों में  बिहार और झारखण्ड में 15000 कैम्पेन लगा चुके हैं, ताकी लोग अभी से सजग हो जायें |

आस्था फाउंडेशन के संस्थापक पुरुषोत्तम सिंह ने बताया कि ‘ इस अभियान के तहत आस्था  फाऊनडेशन सभी स्कूल एवं कॉलेज  के विद्यार्थी , शिक्षक , प्रोफेसर सभी को WALK FOR LIFE कार्यक्रम में शामिल होने के बाद  डायबिटीज जागरूकता अभियान का Certificate भी देती है क्योंकि  ये सर्टिफिकेट  उनको बराबर यह याद दिलाया करेगा कि और भी लोगो को डायबिटीज के प्रति जागरूक किया जाऐ ।’

पुरुषोत्तम सिंह बताते है कि  आप अगर हफ्ते में कम से कम पांच दिन रोजाना 30 मिनट तेज पैदल चले तो मधुमेह को आप अपने से दूर रख सकते हैं, और वाक फॉर लाइफ के माध्यम से  इसी छोटी और जरुरी जानकारी को जन-जन तक पहुँचाने का कार्य कर रहे हैं | इस कैम्पेन में विशेष तौर पर प्रख्यात डॉक्टर दिवाकर तेजस्वी  भी उनको  सहयोग करते हैं |

शुरू किया ‘डायबटीज पर चर्चा’

वाक फॉर लाइफ कैम्पेन के अंतर्गत हीं आस्था फाउंडेशन ने  ‘डायबटीज पर चर्चा’  कार्यक्रम की भी शुरुवात की है  ,जिसमे पुरुषोत्तम सिंह के साथ विशेषज्ञ डॉक्टर की टीम भी शामिल है जो  धरातल पर उतर कर आम लोगों के बीच जा कर डायबटीज के दुष्परिणाम और उससे बचने के उपायों पर चर्चा कर रहे है |

बिहारस्टोरी  टीम को आस्था फाउंडेशन के सचिव पुरुषोत्तम सिंह ने बताया कि “अब उनकी पूरी  टीम चाहती है कि सभी लोगो को डायबिटीज , हाईपर टेंशन के प्रति जागरूक किया जाऐ और इस क्रम में  हर चौक , चौराहा , माँल ,पार्क , स्लम बस्तियों हम जा रहे है  सिर्फ एक ही मकसद है  कि ‘वाक फार लाईफ’  का मैसेज सभी वगोँ के लोगो तक पहूचाना है  ।”

 WATCH VIDEO OF WALK FOR LIFE

लोगों और संस्थाओं से साथ देने की अपील

पुरुषोत्तम सिंह का कहना है कि इसे विडंबना हीं कहेंगे की अगर शहर में कोई मशहूर गायक का प्रोग्राम हो तब दर्जनों बड़ी-बड़ी कम्पनिया स्पांसरशिप लेने के लिए कतार में खड़ी मिलती है, पर “वाक फॉर लाइफ कैम्पेन” के लिए इन नामी – कंपनियों के पास एक फूटी कौड़ी भी नहीं होती है |

अब तक  पुरुषोत्तम सिंह ने जितने भी कार्यक्रम किये हैं वो अपने पैसे तथा आपसी सहयोग से हीं किये हैं जो उनकी समाज के प्रति संवेदनशीलता को दर्शाता हैं |

 

niraj kumar

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar

Latest posts by niraj kumar (see all)