जो खुद मिसाल भी बने और मशाल बनकर समाज को रास्ता भी दिखा रहे है,  कुछ ऐसे ही सामाजिक नगीनों के चरण पड़े थे शुक्रवार को बिहार की राजधानी पटना के ‘बिहार चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स हॉल ‘ में  जहाँ Helping human (हेल्पिंग ह्यूमन ) और Sanskriti Foundation (संस्कृति फाउंडेशन ) द्वारा आयोजित “बिहार रत्न सम्मान समारोह 2019” में  समाज के चुनिंदा 51 महारथियों  ने शिरकत की और उन्हें ‘ बिहार रत्न ‘से नवाजा गया  |

जो इंसान इस मतलबी दुनिया में भी परिवर्तन की जरूरत को देख उसे पूरा करने के लिए बिना किसी कोताही और संकोच के निःस्वार्थ भाव से समर्पित होकर जुट जाये वैसे  समाज के सच्चे  धरोहरों की अनदेखी कैसे की जा सकती है ?

यूथ आइकॉन आकांक्षा चित्रांश जो हेल्पिंग ह्यूमन संस्था की सीईओ है तथा युवा दिलों के सम्राट दूर्गेश कुमार सोनु ने सांस्कृति फाउंडेशन के तत्वाधान में 8 फ़रवरी को गाँधी मैदान अवस्थित बिहार चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स के प्रांगण में “बिहार रत्न सम्मान समारोह 2019” का आयोजन कर बिहार के कोने – कोने से अपने क्षेत्र के दिग्गज सामाजिक कार्यकर्ताओं को बिहार रत्न की उपाधि देकर पुरे राष्ट्र को बतला दिया है कि बिहारी माटी में पैदा हुए ये 51 बिहार के लाल  भी एक  दरिया सामान  हैं, जिन्हें अपना हुनर मालूम है जिस तरफ भी  चल पड़ेंगे , रास्ता बन जायेगा | 

मुख्य अतिथि के रूप में मंच पर मौजूद थी रेनबो होम्स की बच्चियां

एक ऐसा समारोह जिसने एक नया रिवाज अपनाकर  एक नयी इबारत लिखी और हैरान कर दिया सबको जब उपस्थित लोगों ने देखा कि मंच पर मुख्य अतिथि के रूप में पहली बच्ची वो थीं जिसके आँखों में रौशनी नहीं थी , दूसरी वो बच्ची वो थीं जो अनाथ थी और तीसरी  बच्ची वो थीं जिस पर कुछ साल पहले कुछ गुंडों ने एसिड अटैक किया था। सभी सामाजिक कार्यकर्ताओं को और संस्थाओं को इन बच्चियों ने बिहार रत्न का अवार्ड दिया। इस प्रयास और नए रिवाज को लोगों ने दिल से सराहा और इस सम्मान समारोह का यह सबसे बड़ा आकर्षण केंद्र रहा |

हरेक थे अपने क्षेत्र के मजे हुए योद्धा और महारथी

अगर बात बिहार के सामाजिक कार्यकर्ताओं की हो और बिहार के त्रिमूर्ति ( गुड्डू बाबा, मुकेश हिसारिया, रहमान सर) की बात न हो तो ये हो नहीं सकता | बिहार चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स के हॉल  में इन तीनो महारथियों ने शिरकत तो किया हीं साथ हीं अपने जोशीले अंदाज में दिये भाषण से वहाँ मौजूद अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं और श्रोताओं को जोश से भर दिया |

बिहार के हर कोने से आये थे समाजसेवी

संस्था ने राज्य भर के चुनिंदा सामाजिक कार्यों एवं अन्य क्षेत्रों में कार्य कर रहे लोगों को सम्मानित किया । जिला भागलपुर से शबाना दाऊद को बिहार में पति – पत्नी  विवाद को सुलझाने एवं कोर्ट के बाहर काउंसिलिंग कर समझौता कराने के लिए , समस्तीपुर के गौरव राजेश कुमार सुमन को पर्यावरण संरक्षण हेतु कार्य  करने के लिए, हाजीपुर की सरिता राय को शिक्षा एवं नारी सशक्तिकारण  के क्षेत्र में  सामाजिक योगदान के लिए , बक्सर के लाल एवं समाजिक योद्धा  रामजी सिंह  को समाज में गरीबों और असहायों के बिच निःशुल्क एम्बुलेंस सेवा एवं आर्थिक मदद कर उनके ईलाज मुहैया कराने के लिए बिहार रत्न सम्मान दिया गया |

समाजिक कार्यकर्ता ही आज के रियल हिरो हैं

सम्मान समारोह की आयोजनकर्ता एवं प्रख्यात समाजसेवी आकांक्षा चित्रांश ने कार्यक्रम की शुरुवात करते हुए कहा कि  आज बिहार के लगभग हर प्रमुख सोशल हीरो यहाँ  पर उपस्थित हैं और हेल्पींग ह्यूमन का प्रयास है कि  बिहार के समाजिक क्षेत्रों में काम करने वाले जितने भी लोग है उनको हम सम्मान दे |

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सांस्कृति फाउंडेशन के दूर्गेश कुमार सोनु ने कहा किआज बिहार के युवाओं में समाज बदलने की क्षमता है | समाज को आधुनिक और शोषण मुक्त समाज बनने में इन समाजिक क्षेत्र में काम करने वालों की बड़ी भुमिका हैं | आज हम सब समाजिक क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को सम्मानित कर यह संदेश देना चाहते है की आइए हमसब मिलकर आर्थिक ,समाजिक गैर बराबरी को खत्म कर एक समता मूलक समाज बनाया जाए |

51 लोगों को मिला “बिहार रत्न सम्मान  “

समाज के विभिन्न क्षेत्रों से (शिक्षा, स्वास्थ, समाज कल्याण,पर्यावरण ) सहित विभिन्न समाजिक क्षेत्रों में काम करने वाले एकावन (51)लोगों को यह सम्मान दिया गया | कुछ प्रमुख लोंग  जिनको यह सम्मान मिला उनमें शामिल है नितू नवनीत(गायन),  अमृता सिंह एवं पल्लवी सिन्हा ( साईं की रसोई), शिखा मेहता (u Blood Bank ) , शाजिया कैसर (रॉयल शू सर्विस), कौशल शर्मा (गांव मानस सेवा संस्थान), अमित कुमार,  दीपक तिवारी (अरमान फाउंडेशन), रौशन कुमार (माया कौशल्या फाउंडेशन),  क्रांति देवीतब्बसुम अली (यूथ फ़ॉर स्वराज), शुभ्रा सिंह(महिला संघ), रोहित कुमार (Founder,Be for Nation ), प्रशांत भारती (Founder of  @B4Deo,Blood 4 Bihar Jharkhand ), वैष्णवी (दिव्यांग अधिकार), रितु जायसवाल (मुखिया ) , देवयानी दुबे (राजनीति), चन्दन राज, गुड्डू बाबा (गंगा सफाई अभियान), मुकेश हिसारिया (रक्तदान) आदि प्रमुख हैं.

सामाजिक कार्यकर्ताओं का हुआ  संगम और मिलन

सैकड़ों लोगों से खचा-खच भरे हुए हाल में रेनबो होम्स की बच्चियों ने रंगारंग कार्यक्रम कर दर्शको को मन्त्र मुग्ध कर दिया |   युवा लेखक संजीव कुमार द्वारा लिखितपुस्तक उड़ान की कहानी जो कभी  रेडियो पर प्रस्तुत की गयी थी  “वो मनहूस लड़की “  को वहां उपस्थित  लोगों को सुनाया गया  जिसे श्रोताओं ने बहुत पसंद किया |

सम्मान समारोह के इस आयोजन  के बहाने सभी समाजिक कार्यकर्ता एक दुसरे से मिले और एक सांथ मिलकर काम करने का मन भी बनाया । समरोह के अंत में सभी लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था भी की गयी थी | मधुपुर के कारीगरों द्वारा बनाया गया लिट्टी – चोखा ने सभी को दीवाना बना दिया और लोगों ने जम कर खाया |