लोग ठीक ही कहते है कि वर-वधू की जोड़ी पहले से ही ऊपर वाला तय करता है और इंसान चाहे जितना भी भाग दौड़ करे पर होता वही है जो ऊपर वाले ने तय कर रखा है | आज आपको ऐसी ही एक प्रेम कहानी से रुबरु कराने जा रहे हैं जहां एक पति ने अपनी पत्नी की शादी उसके प्रेमी से करवा उसे घर विदा कर दिया। इस शादी का गवाह पति के साथ-साथ पूरा गांव भी बना |

फिल्मी स्टाईल की यह प्रेम कहानी है गया जिले की है

फ़िल्मी स्टाईल की यह प्रेम कहानी है गया जिले के टनकुप्पा प्रखंड के उतली गांव की है। जहां के पप्पू यादव की शादी नवादा के रजौली के भोरे गांव की करिश्मा से 2017 में हुई थी। सालभर के अंदर ही हालात ऐसे बने कि पप्पू ने अपने परिवार और गांव वालों के साथ मिलकर करिश्मा की शादी उसके प्रेमी से करा दी। पप्पू की पत्नी करिश्मा की शादी के गवाह बने उसके माता-पिता, परिवार और गांव वाले। सभी के साथ मिलकर पति पप्पू ने पत्नी करिश्मा की शादी उसके प्रेमी पंकज से करा दी और उसे हमेशा खुश रहने का आशीर्वाद देकर विदा कर दिया।

शादी के बाद खोयी-खोयी रहती थी करिश्मा

पप्पु यादव की मां पार्वती देवी की मानें तो उसकी बहू करिश्मा शादी कर आने के बाद से ही खोयी-खोयी सी रहती थी | जब परिवार वालों को पता चला कि वह अपने पति के बजाए दूसरे लड़के को चाहती है तो बहू की खुशी के लिए उन लोगों ने करिश्मा की शादी उसके प्रेमी से कराने की सहमति दे दी | दरअसल, पंकज और करिश्मा दोनों नवादा जिले के निवासी हैं और शादी के पहले से ही दोनों में प्रेम प्रसंग चल रहा था। शादी के बाद भी दोनों एक-दूसरे को नहीं भूल पाए और पंकज छिप छिपकर करिश्मा के ससुराल में मंडराता रहता था और मोबाइल से भी अक्सर बात करता था।

एक रात प्रेमी पंकज  अपनी प्रेमिका करिश्मा के ससुराल जा पहुंचा तो गांव वालों ने उसे पकड़ लिया और जमकर धुनाई कर दी। फिर गांव में पंचायती हुई। पति-पत्नी एवं प्रेमी के साथ ही परिवार वालों की राय ली गई और सबने मिलकर गुरुवार को मंदिर में दोनों की शादी कर दी। पति और परिवार के लोगों के साथ पूरे गांव ने आशीर्वाद देते हुए पंकज और करिश्मा को विदा कर दिया। टनकुप्पा के सह पूर्व प्रमुख परशुराम यादव ने बताया कि पंचायत में पप्पू यादव का परिवार करिश्मा की शादी उसकी प्रेमिका पंकज से कराने के लिए राजी हो गया लिहाजा दोनों की शादी करा दी गई है।

niraj kumar