हम सभी इस बात से अवगत हैं कि बच्चे देश के भविष्य हैं, पर ये बच्चे तब एक विकसित भारत का हिस्सा बनेंगे जब ये पूर्ण रूप से शिक्षित होंगे, परन्तु आज बहुत सरे ऐसे परिवार हैं जो गरीबी रेखा से निचे जीवन यापन कर रहे हाँ ऐसे में वे अपने परिवार के लिए दो जून की रोटी जुटाए या फिर अपने बच्चों को पढ़ाएं |हालात व परिस्थितियों  से मजबूर होकर बहुत से अभिभावक चाह कर भी अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा नहीं दे पाते हैं |  ऐसे में गरीब बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देकर उन्हें समाज की मुख्य धारा में जोड़ने का नेक कार्य कर रहे हैं बिहार की राजधानी पटना के धनरूआ प्रखंड  के तेतरीचक गांव के रिटायर्ड दिव्यांग शिक्षक रामनरेश सिंह | भले ही ईश्वर ने रामनरेश सिंह को  दिव्यांग बनाया है, लेकिन उनका हौसला पहाड़ जैसा मजबूत है |

अवकाश प्राप्त शिक्षक हैं रामनरेश सिंह

रामनरेश सिंह का गरीबी से काफी नजदीक का रिश्ता रहा है, और वे गरीब बच्चों को शिक्षा ग्रहण करने में आने वाली कठिनाइयों को भली भांति जानते हैं | चूंकि शुरू से मैं शिक्षक रहा हूं और गरीबी में पला-बढ़ा हूं, इसलिए  बहुत नजदीक से समझता हूं | रामनरेश सिंह 2013  से लगातार गांव के गरीब बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा  दे रहे हैं | रामनरेश सिंह द्वारा शिक्षित करीब दो दर्जन से अधिक छात्र आज विभिन्न सरकारी सेवाओं में हैं | तेतरीचक के पास स्थित सूर्यगढ़ा के रहने वाले दिलीप कुमार जमशेदपुर में टिस्को में इंजीनियर हैं तो  तेतरीचक गांव के ही मनोज पंडित नालंदा के थरथरी प्रखंड में  प्रोग्राम अफसर हैं, जबकि विकास कुमार मुंबई में रेलवे में टेक्नीशियन हैं और शैलेश कुमार जबलपुर में लोको पायलट हैं |

सैकड़ो बच्चे रोज आते हैं पढ़ने

आज रामनरेश सिंह से पढ़ने के लिए तेतरीचक गांव समेत आसपास के सैकड़ो बच्चे रोजाना  सुबह इनके पास आ जाते हैं और वे सभी को बैठा अनुशासन के साथ पढ़ाते हैं |  रामनरेश सिंह ने कहा कि गुरु-शिष्य परंपरा भारतीय संस्कृति का अहम और पवित्र हिस्सा है, लेकिन वर्तमान  परिवेश में कई ऐसे शिक्षक हैं, जो लालची स्वभाव के कारण इस परंपरा पर आघात कर रहे हैं |  शिक्षा जिसे अब व्यापार समझकर बेचा जाने लगा है. ऐसे में मेरे द्वारा बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देना बहुतों  को खटकता है,पर  इसकी परवाह किये बिना बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देकर रामनरेश सिंह अपने को गौरवान्वित महसूस करते हैं

 

niraj kumar

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar

Latest posts by niraj kumar (see all)