बिहार के सहरसा जिले ( Saharsa District’s ) की एक युवाओं की टोली जिनका एक मात्र उद्देश्य है देश  में हो रही खाने योग्य भोजन की बर्बादी को रोकना और भुखमरी मिटाना। साथ ही लाचार बेबस, बेसहारा लोगों के बेहतर जीवन के लिए यथाशक्ति सहयोग प्रदान करना | सहरसा के रोटी बैंक के पूरी टीम के हौसले को सलाम जो गरीबों व् असहायों के दर्द पर मरहम लगाने का पुनीत कार्य कर रहे हैं | 

Saharsa District's Roti Bank

गरीबों की भूख मिटा रही (Saharsa District’s ) सहरसा की रोटी बैंक

भूख का दर्द क्या होता है साहब जरा भूख से तड़पते गरीबों व लाचारों से पूछिये और हो सके तो उनकी भूख मिटाकर उनकी आखों में आई चमक को देखिये और आशीष देने के लिए उठे उनके हांथ और उनके धड़कन को महसूस कीजिये पता चल जायेगा ये भूख क्या होती है | आज हमारा देश भूख में मामले में 119 में से 100वें स्थान पर है वहीं आज हमारे देश में पचास हजार करोड़ का भोजन बर्बाद हो जाता है | अगर ये भोजन सही व्यक्ति के थाली तक पहुँच जाये तो शायद हीं हमारे देश में किसी को भूखा रहना पड़े | और इसी विचार को जन-जन तक  पहुँचाने का नेक कार्य कर रही है रोटी बैंक ( Roti Bank ) की टीम |

ये लोग ना केवल बचे हुए खाने योग्य भोजन का सदुपयोग करती है और लोगों को जागरूक करती है, इसके अलावा टीम रोटी बैंक ( Roti Bank ) सड़कों, प्लेटफॉर्मों पर सोने वाले भूखे लाचार, बेबस, बेसहारा लोगों को रात्रि में ताजा भोजन तैयार करके उपलब्ध भी करवाती है | और शहरी क्षेत्र में निवास करने वाले वैसे परिवार जिनकी आर्थिक स्थिति काफी दयनीय है, जो दो वक्त की रोटी का इंतज़ाम बड़ी मुश्किल से कर पाते हैं | वैसे परिवारों को प्रत्येक महीने राशन के रूप में चावल,दाल,मसाले, सोयाबीन आदि के साथ-साथ समय-समय पर अन्य जीवनोपयोगी सामग्री जैसे बर्तन, कंबल आदि देने का नेक व सराहनीये कार्य भी करती है, जिससे  उनके जीवनमें आये तकलीफ को कम किया जा सके | रोटी बैंक ( Roti Bank ) किसी खास जाति, धर्म, लिंग, पंथ-पंथाय, वर्ण आदि को प्रोत्साहित करने का कार्य नहीं करती है बल्कि समाज में विलुप्त हो रही मानवता की भावना को पुनर्जीवित करने का प्रयास करती है। लोग हमारे इस कार्य में तीन प्रकार से सेवा देते हैं- श्रमदान, राशनदान और धनदान |

Saharsa District's Roti Bank

फेसबुक पेज के माध्यम से शुरू हुई थी रोटी बैंक

रोटी बैंक- सहरसा की शुरुआत 24-06-2018 को रौशन कुमार भगत ने की थी और  फेसबुक पेज   के माध्यम से मानव सेवा में गहरी आस्था रखने वाले लोग धीरे-धीरे इस मुहिम से जुड़ते चले गए |  जिनमें मुकुंद माधव मिश्रा, रवि रंजन, राहुल गौरव और पंकज कुमार प्रमुख हैं |  रोटी बैंक शहर में किसी भी प्रकार के आयोजन में हो रही खाने योग्य भोजन की बर्बादी को रोकने और भुखमरी मिटाने का कार्य करती है।

इस पुनीत कार्य में उपरोक्त प्रमुख सदस्यों के अतिरिक्त श्रमदाता के रूप में चंदन कुमार, मंजेश यादव, शाहनवाज आलम, साकिर उस्मानी, आनंद सिंह, अंकित कर्ण, अशरफ अली और आशुतोष झा आदि अपनी सेवा देते हैं |  वहीं भविष्य के लिए कार्ययोजना निर्धारित करने में सचिन प्रकाश, नीरज राज, अजय कुमार, अचल कुमार, कुमार नितिन, पीयूष रंजन, विकास सिंह,दिव्यप्रकाश वर्मा आदि अपनी अहम भूमिका निभाते हैं। हमलोग फेसबुक पेज *रोटी बैंक- सहरसा* के माध्यम से लोगों से जुड़कर उन्हें खाने योग्य भोजन की बर्बादी को रोकने और अन्नदान एवं अन्य जीवनोपयोगी सामग्री दान करने की अपील करते हैं और तकनीकी विशेषज्ञ के रूप में दीपकरण सिंह अपनी सेवा देते हैं |

Saharsa District's Roti Bank

कुछ इस तरह से कार्य करती है रोटी बैंक

रोटी बैंक,सहरसा रात्रि में सड़कों, प्लेटफार्मों पर सोने वाले भूखे लाचार बेसहारा बच्चे, बूढ़े,महिला और दिव्यांगों को भोजन उपलब्ध करवाती है ताकि उन्हें भूखे नहीं सोना पड़े |  इसके लिए रोटी बैंक के सदस्यों और अन्नदाताओं के सहयोग से ताज़ा भोजन तैयार किया जाता है |  इसके अतिरिक्त रोटी बैंक जिला मुख्यालय से 5 किलोमीटर क्षेत्र में आयोजित होने वाले किसी भी प्रकार के समारोह में बचे हुए खाने योग्य भोजन को बर्बाद होने से बचाने का कार्य करती है |  उन समारोह स्थलों से सुबह 7 बजे तक भोजन की गुणवत्ता की जाँच कर भोजन संग्रह किया जाता है और उस भोजन को शहर के विभिन्न हिस्सों में भूखे लोगों में सुबह ही बाँटा जाता है | इसके अलावा समय-समय पर लाचार बेबस लोगों के बीच पुराने साफ-सुथरे पहनने योग्य कपड़ों और अन्य जीवनोपयोगी सामग्री का वितरण भी किया जाता है रोटी बैंक के द्वारा |

लोगों के सहयोग से चलता है रोटी बैंक

वैसे तो इस नेक मुहिम में कई लोगों का राशनदान/ अन्नदान/सामग्री दान/ धनदान के माध्यम से सहयोग प्राप्त होता है। परंतु नियमित रूप से राशनदाता के रूप में निशारानी भगत, जय गुप्ता, सचिन प्रकाश, राजकुमार गुप्ता आदि का सहयोग प्राप्त होता है | इसके अलावा लोग रोटी बैंक के पे.टी.एम. नंबर [Paytm No. 9472875305] पर भी लोग आर्थिक सहयोग करते हैं | और जिन्हें दान में भोजन या कोई अन्य सामग्री देनी होती है वे लोग Contact no. 7979056136,7070674745,8676994339 पर संपर्क करते हैं | या फिर 【Whatsapp no. 9110177479】 पर संपर्क करते हैं |

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar

Latest posts by niraj kumar (see all)