दिल मे हो हौसला और मेहनतकश मन हो तो इंसान क्या कुछ नही कर सकता ऐसा ही कुछ किया है , उत्तर प्रदेश के एक छोटे से गाँव बनवारी टोला की इन दोनों बहनों ने जिनका नाम ज्योति और नेहा है | इन दोनों बहनों ने दुनियां को साबित कर दिखा दिया की हम बेटियां भी घर की जिम्मेदारी अपने सर उठा सकते हैं |

“बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ”

इन दोनों के पिता नाई का काम करते हैं लेकिन उनकी तबियत खराब होने के बाद दोनों बहनों ने दुकान का सारा काम संभाल लिया है । आज ये दोनों बहन सामाजिक रूढ़िवाद को चुनौती देते हुए, इन लड़कियों ने अपने पिता की नाई की दुकान चलाती है और साथ में अपनी शिक्षा पर इस कार्य का कभी असर नही पड़ने देती है | ये दोनों बहनें “बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ” के अभियान का एक बेजोड़ उदाहरण है |

पिता के बीमार होने के बाद दोनों बहनों ने नाई की ज़िम्मेदारी संभाली ;

पिता के बीमार होने के बाद दोनों बहनों ने उनके इलाज और अपनी पढ़ाई के लिए नाई का काम संभाल लिया और साथ ही अपने दुकान का नाम नेहा-ज्याति पार्लर रखा । बता दें कि कुछ वक्त पहले ज्योति और नेहा के पिता को लकवा मार गया था और उस वक्त एक की उम्र 11 साल और दूसरी की 13 साल की थी । खुद की पढ़ाई पापा की दवाई के लिए दोनों बहनों ने नाई का काम संभाला और बाल काटना शुरू कर दिया । दोनों लड़कियां लड़कियों की तरह कपड़े पहनती हैं और सभी मर्दों के हेयर कट से लेकर शेविंग तक सब कुछ करती हैं ।

इन दोनों बहनों के संघर्ष एवं मेहनत देखते हुए जिलेट (gillete) कंपनी ने एक वीडियो भी बनाई ;

यूनिसेक्स शेविंग ब्लेड बनाने वाली कंपनी जिलेट ने एक प्रेरणादायक कहानी द्वारा एक अपरंपरागत विज्ञापन फिल्म के माध्यम से दिखाई है, जो वर्तमान में 25 मिलियन विचारों के साथ इंटरनेट पर वायरल हो चुकी है। जिलेट के द्वारा चल रहे सफलतापूर्ण कार्यक्रम जोकि एक भाग के रूप में दोनों लड़कियों को उनकी शिक्षा और पेशेवर जरूरतों को कवर करने वाली एक छात्रवृत्ति प्रदान कर रही है। इस वीडियो में दिखाया जा रहा है की,”पिता का पेशा लड़के को विरासत में मिलता है । लेकिन लड़कियों को विरासत में गृहस्थी, रसोई और घर की जिम्मेदारियां मिलती हैं , जिसके बाद एक पिता लड़के के साथ नाई की दुकान में जाता है । जहां दो लड़कियां आती हैं और पूछती हैं- काका दाढ़ी बना दूं? बच्चा पिता से पूछता है- पापा ये लड़की होकर उस्तरा चलाएगी? पिता जवाब में कहता है- ‘बेटा उस्तरा को क्या पता उस्तरा चलाने वाला लड़की है या लड़का’ जिसके बाद लड़की शेविंग करनी शुरू कर देती है ।”

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर से लेकर बॉलीवुड के कई सितारे अपनी दाढ़ी इन दोनों बहनों से बनवा चुके है ;

हाल ही में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर भी इस सैलून में अपनी दाढ़ी बनवाने के लिए पहुंचे और वहां पर दोनों लड़कियों के काम की सराहना करते हुए सचिन तेंदुलकर ने दोनों बहनों की पढ़ाई के लिए स्पॉनसर भी किया ; इसके अलावा बॉलीवुड के स्टार्स भी इन लड़कियों के इस काम को सलाम कर रहे हैं जिसमें दंगल गर्ल फातिमा सना शेख और सान्या मल्होत्रा, राधिका आप्टे और हेयरस्टाइलिस्ट आलिम हकीम ने इन बहनों की तारीफ की है । तो वहीं एक्टर फरहान अख्तर ने लिखा,”दोनों लड़कियों ने दिल छू लिया । पिता और गांव के लोगों को सलाम,जिन्होंने इनको सपोर्ट किया.”

subham Gupta
Latest posts by subham Gupta (see all)