अभी गर्मी अपने चरम पर है, तो जाहिर सी बात है प्यास तो लगेगी हीं | अब सवाल उठता है की प्यास लगने पर क्या पिया जाये जिससे नुकसान भी न हो सेहत भी बरकरार रहे, स्वाद में हिट रहे और साथ में बजट में भी फिट आ जाये, तब एक हीं ऐसा पेय है जीस पर नजर जाएगी, और  वो है कच्चे आमों को आग में पकाकर तैयार किये गए आम झोरा पर |

स्वाद ऐसा की दीवाना बना दे

बाजार में बिकने वाली बनावटी रंग और स्वाद से बनी मीठे पानी की एयरेटेड बोतलें  तो स्वाद और गुणों में आम झोरा  की छाया को भी छू नहीं सकतीं |   इस जला देने वाली गर्मी में  आम झोरा आपके शरीर को लू से बचाने के साथ-साथ  आपके शरीर के तापमान को स्थिर रखने में भी बहुत सहायक होता है, और तो और इसका स्वाद आपको गारंटी है दीवाना बना देगा |

औषधि की तरह काम करता है आम झोरा

अगर किसी को लू लग गया हो तब उसके लिए आम झोरा एक बेहतरीन औषधि की तरह काम करता है | लू से ग्रसित बच्चे या व्यक्ति को अगर आम झोरा का सेवन कराया जाये एवं आग में पके आम को पुरे शरीर में लगा दिया जाये तो चंद घंटे में हीं लू से ग्रसित व्यक्ति बिल्कुल चंगा हो जाता है |

आसानी से उपलब्ध हो जाता है

आम झोरा गर्मी के मौसम में खास कर बिहार में बहुत लोकप्रिय है, यही कारण  है की  आपको हर चौक-चौराहे पर बिकती हुई दिख जाएगी, वो भी मात्र 10 रूपए प्रति गिलास | अगर आप चाहे तो इसे अपने घर पर भी आसानी से बना सकते हैं | इसे बनाने में आग में पके कच्चे आम के अलावा सिर्फ काला  नमक भुना हुआ जीरा एवं पुदीने का हीं इस्तेमाल होता है जो आसानी से उपलब्ध हो जाता है |