आज मॉब लिंचिंग मानों एक फैशन सा हो गया है पर महज एक झूठी अफवाह के कारण किसी व्यक्ति की जान ले लेना कहाँ तक तर्क संगत है | अभी तक भारत के किसी भी कोने में एक भी बच्चा चोरी होने की पुष्टि नहीं हुई है, पर महज झूठी अफवाह के कारण उन्मादी भीड़ ने दर्जनों लोगों की जान ले ली |  

सिर्फ अफवाह और कुछ नहीं

कभी मुंह नोचवा तो कभी चोटी कटवा और आज की ताजी अफवाह बच्चा चोरी | महज एक अफवाह के कारण आज दर्जनों लोगों को जान से हांथ धोना पड़  गया है | वह कैसा दृश्य होगा जब एक इंसान उन्मादी भीड़ से अपनी सलामती की भीख मांग रहा होगा और भीड़ उस व्यक्ति पर लाठी बरसा रहा होगा ?  सिर्फ सोंचने मात्र से हीं किसी भी इंसान का मन-मष्तिक काँप उठेगा | इस कुकृत्य में भी तड़का लग जाता है जब भीड़ द्वारा पीट रहे तथा कथित बच्चा चोर की कोई आधुनिक युवा मुंह में गुटखा लिए अपनी बेशर्मी को ताख पर रख के अपने स्मार्ट फोन से वीडियो बना रहा होता है |  कहाँ खो गई हमारी मानवता, क्यों छोड़  दी हमने इंसानियत, कहाँ गई वो इंसानो को बचाने वाली महानता |

कल आप भी शिकार हो सकते हैं

आज स्थिति यह है की अगर आप किसी दूसरे गांव या इलाके में हैं और गलती से भी किसी बच्चे को प्यार से उठा ले या उसको टॉफी दिलवा दे, तो बस किसी अन्य व्यक्ति को देखने भर की देरी है, निःसंदेह इस भीड़ का अगला शिकार आप होंगे | इसका कुछ उदाहरण हम आप के सामने प्रस्तुत कर रहे हैं

1 . बच्चा चोरी के आरोप में युवक को किया लहूलुहान, थानेदार को पीटा, पुलिस वाहन को भी क्षतिग्रस्त किया

2 . बच्चा चोरी करने के शक में पीट-पीट कर मार दिए गए व्यक्ति के मामले में पुलिस ने कुल 32 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसमें 6 छह महिलाएं भी शामिल

3 . पाली जिले के निमाज गांव के कालूराम मेघवाल की बुधवार को बैंगलुरु में भीड़ ने पीट-पीटकर निर्ममता से हत्या कर दी। बेंगलुरु पुलिस का कहना है कि बच्चे चोरी व मानव तस्करी के संदेह में एक 25 वर्षीय कालूराम मेघवाल पुत्र बचनाराम भीड़ के हत्थे चढ़ गया। भीड़ ने उसके हाथ बांधकर घसीटा और जमकर पिटाई की जिससे उसकी मौत हो गई।

4 . एक बार फिर सोशल मीडिया पर बच्चा चोरी की अफवाह के चलते भीड़ ने एक और जान ले ली है। … यहां तक कि मोरवा में ही बीते 29 जून को एक महिला रेंज ऑफिसर और एक फॉरेस्ट गार्ड को बच्चा चोरी का इल्जाम लगाकर भीड़ ने बुरी तरह पीट दिया था।

अतः अब भी समय है जागरूक हो जाइये और अफवाहों पर ध्यान मत दीजिये  वरना अगला शिकार आप भी हो सकते हैं |

Niraj Kumar