कश्मीर मुद्दे पर दुनिया से अलग-थलग पड़े पाकिस्तान की बौखलाहट देखते बनती है | अंदरूनी दिक्कतों और आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान की भारत पर हमले की गिदरभभकी पर पूरी दुनिया हंस रही है | पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद अहमद का बयान की पाकिस्तान भारत पर अक्टूबर नवम्बर में हमला करेगा, शेख-चिल्ली के सपने सरीखा लगता है |

| अंदरूनी दिक्कतों और आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान की भारत पर हमले की गिदरभभकी पर पूरी दुनिया हंस रही है

भारत-पाक के बीच चार बार हो चुके हैं जंग

1947 में पाकिस्तान भारत से अलग हुआ था, तब से अब तक दोनों देशों के बीच चार बार युद्ध हो चूका है, और इन चारों युद्ध में पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी थी | इन चारो युद्ध की सबसे खास बात यह थी की ये लड़ाइयां कश्मीर को केंद्र में रख कर हुई थी |

पहली जंग

कश्मीर रियासत को अपने में मिलाने के लिए पाकिस्तान ने स्थानीय जनजातियों और अपनी सेना के साथ हमला बोल दिया | कश्मीर रियासत के महाराज हरी सिंह ने भारत से मदद मांगी, भारत ने रियासत के विलय की शर्त रखी जिसे महाराज हरी सिंह द्वारा मान लिया गया | फिर भारतीय सैनिको की बंदूके गरजने लगी और पाकिस्तान को मजबूरन पीछे हटना पड़ा

दूसरी जंग

पाकिस्तान ने ऑपरेशन जिब्राल्टर के तहत जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ कराना शुरू किया | जवाब में भारत ने पश्चिमी पाकिस्तान पर हमला बोल दिया | सत्रह दिन चले इस युद्ध में बहुत भरी  मात्रा में युद्धक टैंक का इस्तेमाल हुआ था |परिणाम स्वरूप पाकिस्तान ने घुटने टेक दिए और ताशकंद समझौता हुआ |

तीसरी जंग 1971

1971 में पूर्वी पाकिस्तान के रूप में अलग बांग्लादेश के आंदलन ने तूल पकड़ा | ऑपरेशन सर्च लाइट के बाद लाखों बांग्लादेशियों ने भारत में शरण ली, मजबूरन भारत को दखल देना पड़ा | बौखलाए पाकिस्तान ने भारत के पश्चिमी सीमा पर हमला बोल दिया, लेकिन भारतीय सेना के रणनीति के आगे पाकिस्तान की एक न चली | दो हफ्ते तक चली इस जंग में भारत ने पाकिस्तान के एक बड़े भूभाग पर कंजा कर लिया | इतना ही नहीं पाकिस्तान के नब्बे हजार सैनिकों को आत्म समर्पण करना पड़ा था |

चौथी जंग 1999  कारगिल

1999 में पाकिस्तानी सैनिकों ने कारगिल की ऊँची चोटियों पर कब्ज़ा जमा लिया | पाकिस्तान के इस नापाक हरकत की भनक जब भारत को मिली तो घुसपैठियों को खदेड़ने के लिए भारत ने अपनी पूरी ताकत लगा दी, और एक-एक करके भारत ने अपनी सभी चोटियों पर कब्ज़ा कर लिया | हलाकि इस जंग में भारत और पाकिस्तान दोनों को काफी नुकसान उठाना पड़ा था |

सबक सिखने को तैयार नहीं

पाकिस्तान भारत के साथ चार बार भीड़ चूका है, और हर बार उसे मुंह की खानी पड़ी है ! फिर भी पाकिस्तान अपनी पिछली हरकत से कुछ भी नहीं सिख पाया | ये बात जग जाहिर है की अगर इस बार पाकिस्तान और भारत का युद्ध हुआ तो पाकिस्तान वजूद हैं खतरे में पर जायेगा वाबजूद इसके पाकिस्तान भारत के साथ युद्ध करने के लिए उतावला हो रहा है |

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar