विकलांगता एक ऐसी परिस्तिथि है जिससे आप चाह कर भी पीछा नहीं छुड़ा सकते ! एक आम आदमी छोटी छोटी बातों पर झुंझला उठता है तो ज़रा सोचिये उन बदकिस्मत लोगों का जिनका खुद का शरीर उनका साथ छोड़ देता है, फिर भी इनका जीने या कुछ कर दिखाने का जूनून रत्ती भर भी कम नहीं होता | आज हम जिनकी बात करेंगे उनका दोनों हांथ नहीं है, बावजूद इसके वे बहुत आसानी से दर्जी का काम कर लेते हैं | नाम है उनका मदन लाल Madan Lal और रहने वाले हैं हरियाणा के  | 

इसे भी पढ़े :-एक दिलेर आशिक माउंटेन मैन दशरथ मांझी 

Madan Lal

पेशे से दरजी हैं Madan Lal मदन लाल

लोग हाथों की रेखाओं में किस्मत तलाशते हैं लेकिन इस शख्स के हाथ न होते हुए भी बहुत किस्मत वाला है | हरियाणा के रहने वाले Madan Lal मदनलाल के साथ विधाता ने  बड़ा अजीब खेल खेला है। मदनलाल Madan Lal  ने बिना हाथों के ही अपनी मुट्ठी में सारे कामों को बांध रखा है। एक दर्जी बिना हाथों के अपना पेशा कैसे कर लेता है, यह बात लोगों को हैरत में डालती है।मदन लाल Madan Lal  जितनी आसानी से अपने काम को अंजाम देते हैं वो एक आश्चर्य से कम नहीं है |

Madan Lal

मदन लाल Madan Lal को किसी के सहारे की जरुरत नहीं होती

दोनों हाथ के न होने की वजह मदन स्कूल जाने से वंचित रह गए लेकिन आज मदनलाल Madan Lal  एक सफल जिंदगी जी रहे हैं। मदनलाल ने अपनी रोजमर्रा की जिंदगी चलाने के लिए अपने पैरों को ही हाथ बना लिया। वो सारे काम जो हाथ से किए जाते हैं, उन्हें मदनलाल पैरों के सहारे ही बड़ी आसानी से निपटा लेते हैं।

इसे भी पढ़े :-समाजसेवकों के प्रेरणदूत धर्मवीर सिंह बग्गा

इसके अलावा मदनलाल अपने परिवार के सदस्यों के कामों में मदद करते हैं। इतना ही नहीं समाज को सीख देने के लिए कि ‘विकलांगता अभिशाप नहीं है’ उन्हें शहरों और गांव के स्कूलों-कॉलेजों में और दूसरे कार्यक्रमों में मंच दिया जाता है ताकि लोग जागरूक हो सकें।

Madan Lal

मन की विकलांगता ना हो तो शारीरिक विकलांगता कोई मायने नहीं रखती

दूसरे के लिए उदाहरण बने मदनलाल का कहना है कि मन की विकलांगता ना हो तो शारीरिक विकलांगता कोई मायने नहीं रखती। मदनलाल का कहना है कि इस कारण मैं अपने परिवार पर बोझ नहीं हूं बल्कि दूसरों का बोझ भी अपने कंधो पर उठाता हूं। हौसले की एक खूबसूरत मिसाल जो लोग जिंदगी में अक्सर छोटी छोटी परेशानियों से घबरा जाते हैं, हाथ खड़े कर लेते हैं उनके लिए मदनलाल हौसले की एक खूबसूरत मिसाल बने हुए हैं।

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar