आज की भाग दौड़ की जिंदगी में हर कोई अपने में हीं मगन है, पर समाज में हर कोई एक जैसा नहीं होता कुछ वैसे लोग भी मौजूद  हैं जो अपना समय दूसरों के आंसू पोंछने के लिए निकल हीं लेते हैं | हालांकि ऐसे व्यक्ति कम हीं होते हैं और उन्ही व्यक्तियों में एक नाम धर्मवीर सिंह बग्गा का भी आता है, जो दूसरों की मदद करने के लिए जाति, धर्म , पैसा,समय कुछ भी नहीं देखते, देखते हैं तो सिर्फ मजबूर और लाचार के आंसू, जिसे पोछने के लिए धर्मवीर सिंह बग्गा Dharamvir Singh Bagga हर वक्त तैयार रहते हैं |

Dharamvir Singh Bagga

बेटियों के प्रति समाज मे फैली कुरीतियों को दूर करने की कोशिश

पिछले 15 सालों से अधिक समय से गरीब और बेसहारा परिवार के बेटियों को बिना किसी बाहरी मदद के अपने निजी खर्चे सर्वधर्म सामूहिक विवाह का आयोजन कर 6 सौ से अधिक बहनों के हाथ पीले करने वाले धर्मवीर सिंह बग्गा Dharamvir Singh Bagga को असली खुशी तब मिलती, जब ये बहनें रक्षा बंधन के मौके पर दर्जनीन की संख्या में आकर इन्हें राखी बांधती हैं। इस बार भी कई दर्जन गरीब परिवार की बहनों ने अपने इस मुंहबोले भाई के हाथों में राखी बांधकर उनके लंबी उम्र के लिए प्रार्थना की।

इसे भी पढ़े :-फ़रहत नकवी फ्री में करती हैं लोगों की कानूनी मदद

साथ ही अपने भाई से रक्षा का वचन भी लेती हैं अपने धार्मिक मर्यादा के अनुसार जाति धर्म से ऊपर उठकर अम्बेडकर नगर जिले के साथ साथ आसपास के जिलों के अलावा पंजाब के सबसे बड़े धार्मिक स्थल अमृतसर में भी गरीब और बेसहारा बेटियों के हाथ पीले अपने खर्चे से कराते हैं। इसके अलावा इन्होंने अपना देहदान भी कर दिया है। धर्मवीर सिंह बग्गा Dharamvir Singh Bagga अम्बेडकर नगर के अलावा आसपास के जिलों में सभी धर्मों के लावारिश लाशों के भी वीणा उठाया है और उनके इस काम मे प्रशासन भी इनका सहयोग लेता है।

Dharamvir Singh Bagga

पहले पति ने किया था शरीर दान अब पत्नी ने कर दी है नेत्रदान की घोषणा

सामाजिक कार्य करना जितना ही पुनीत कार्य है, उतना कठिन भी है, लेकिन धर्मवीर सिंह बग्गा Dharamvir Singh Bagga और उनकी पत्नी हरनीत कौर युवा काल से ही जब कोई व्यक्ति अपना जीवन अपने शौक पूरे करने में लगाता है, उस उम्र में ये लोग दूसरों के कष्ट को देख उसे दूर करने में जुटे रहे।

इसे भी पढ़े :-भूख के खिलाफ इन युवाओं की अनोखी पहल

कहने के लिए तो अंग दान या शरीर दान महादान है, लेकिन अगर यह कोई व्यक्ति करता है तो सबसे पहले उसके परिवार के लोग ही वीरोध करते हैं, लेकिन यहां तो धर्मवीर सिंह बग्गा ने पहले ही अपना शरीर दान कर दिया है और आज इस सामूहिक विवाह जैसे पुनीत अवसर पर उनकी पत्नी ने अपने नेत्रदान की घोषणा कर के बड़ी मिसाल कायम कर दी है।

Dharamvir Singh Bagga

प्रधानमंत्री के स्वच्छता अभियान का भी दिलाया संकल्प

जिन 15 बेटियों के हाथ पीले किये गए हैं, इन जोड़ों को प्रधानमंत्री के एक राष्ट्रीय कार्यक्रम स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत अभियान से जोड़ते हुए धर्मवीर सिंह बग्गा Dharamvir Singh Bagga ने इस सभी जोड़ों को जीवन मे न सिर्फ स्वच्छ रहने का संकल्प दिलाया, बल्कि सभी को उपहार में स्वच्छता से जुड़े उपकरण भी दिया। पिछले वर्ष भी उन्होंने पर्यावरण को सुरक्षित रखने का संकल्प दिलाते हुए शुभ समझे जाने वाले आम के पौध उपहार में सभी वैवाहिक जोड़ों को दिए थे।

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar