साध्वी जया किशोरी उम्र महज बाइस वर्ष लेकिन फॉलोवर लाखों में और इतना हीं नहीं इनके भजन के वीडियो अपलोड होने के चंद मिनटों में हीं देखने वालों की संख्या करोड़ के पार चली जाती है | कोलकाता के महादेवी बिरला वर्ल्ड अकादमी से पढ़ी जया किशोरी आज के रूढ़िवादी सोंच को परे रख मजह 19 वर्ष की उम्र में हीं बन गई थी साध्वी

राजस्थान की रहने वाली हैं

साध्वी जया किशोरी मूल रूप से राजस्थान की रहने वाली है, इनका जन्म वर्ष 1996 में एक ब्राम्हण परिवार में हुआ था इस कारण से बाल अवस्था से हीं जया का झुकाव आध्यात्म की तरफ ज्यादा था |  लेकिन भगवान् की भक्ति साधना में लीन रहने के बावजूद जया अपनी पढ़ाई भी जारी रखती थी | साध्वी जया कोलकाता के महादेवी बिरला वर्ल्ड अकादमी से इंटरमीडियट तक की पढ़ाई की तथा भवानी पुर गुजराती सोसाइटी कॉलेज से  ग्रेजुएशन पूरी की

गोविन्द राम मिश्र ने दिया था नाम

जया की भक्ति एवं भजन कीर्तन पर लोगों का ध्यान नौ वर्ष पुरे होने पर गया | महज अपने नौवे वर्ष के बाल अवस्था में हीं जया शिव-तांडव स्तोत्रम, रामाष्टकम, लिंगाष्टकम, आदि स्त्रोत गाने लगी थी | जया की कृष्ण भक्ति को देख  उन्हें राधा का नाम दिया यह नाम उन्हें शिक्षा देने वाले गोविन्द राम मिश्र  ने दिया था | जिसे वो अपने नाम के आगे लगाती है, किशोरी नाम भी  गोविन्द राम मिश्र द्वारा हीं दिया गया था जिसे जया अपने नाम के पीछे लगाती है |

दान में मिले पैसे नारायण सेवा ट्रस्ट को दे देती है

जया किशोरी के सत्संग में शुरू से हीं हजारों की संख्या में लोग पहुँचते थे | इतना हीं नहीं इनके फेसबुक पेज को भी पसंद करने वाले की संख्या आठ लाख से अधिक है |

जया किशोरी के सत्संग में आने वाले लोग भारी मात्रा में दान भी करते हैं जो राजस्थान के उदयपुर में स्थित नारायण सेवा ट्रस्ट को चला जाता है

 

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar