खांटी देशी उत्पादों के लिए मशहूर पटना का सरस मेला इस बार भी सज कर तैयार हो गया है | सरस मेले में बिकने वाले देशी उत्पाद हर उम्र के लोगों को लुभा रही है, जो इस बात की-ओर इशारा करती है की आज लोग आधुनिकता को परे रख खान-पान एवं सजावट के लिए भी देशी वस्तुओं को ज्यादा पसंद कर रहे हैं | सरस मेला ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा हर साल आयोजित किया जाता है। इसका उद्देश्य आधुनिक बाजार में स्वदेशी उत्पादों और इससे जुड़े लोगों को प्रोत्साहित करना है बिहार पटना के गाँधी मैदान में आयोजित Saras Mela 2019 में इस बार मेले में बिहार के अन्य जिलों के साथ 22 अन्य प्रदेशों के स्वयं सहायता समूह एवं स्वरोजगार से जुड़े उद्यमी सिरकत करेंगे |

लगाये गए हैं 350 से भी अधिक स्टॉल

मेले में बिहार के अन्य जिलों के साथ 22 अन्य प्रदेशों के स्वयं सहायता समूह एवं स्वरोजगार से जुड़े उद्यमी स्टॉल लगाएंगे। मेले में हस्तशिल्प सामग्री के साथ घरेलू सामग्री भी शहरवासियों को लुभाएगी।बिहार सरस मेले में विभिन्न राज्य के हैंडीक्राफ्ट, लोक कलाकृति एवं हस्तशिल्प का अनूठा संगम लोगों के लिए आकर्षण केंद्र होगा। मेले में हर स्टॉल ग्राहकों को करेगा आकर्षित तीन लाख स्क्वायर फीट में बिहार ग्राम सरस मेला का स्टॉल सजेगा। मेले में 350 से अधिक स्टॉल सजाए जाएंगे। बिहार पटना में आयोजित इस खास Saras Mela 2019  लोगों को  विभिन्न राज्यों की लोक कलाओं के साथ बिहार की कला विरासत भी परिचय कराएगी |

हर उम्र के लोगों के लिए खास सरस मेला 2019

इस बार Saras Mela 2019 हर उम्र के लोगों को अपनी ओर आकर्षित करेगी | फूड जोन,जहां युवाओं एवं महिलाओं के लिए आकर्षण का केंद्र है तो  बच्चों के लिए फन जोन, पालना घर के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन भी हो रहा है | मुख्य मंच पर विभिन्न विभाग, संस्थानों एवं बैंक की सहभागिता से सांस्कृतिक और जागरुकता कार्यक्रमों का आयोजन होगा। बिहार सरस मेले में विभिन्न राज्य के हैंडीक्राफ्ट, लोक कलाकृति एवं हस्तशिल्प का अनूठा संगम भी लोगों के लिए आकर्षण केंद्र होगा।

सरस मेले में लोगों की उमड़ी भीड़ से उद्यमी उत्साहित

पटना -गांधी मैदान में चल रहे सरस मेले में हजारों लोग हर रोज पहुंच रहे हैं। सैलानियों की इस भीड़ और शुरुआती दिनों में हुई खरीदारियों से उद्यमी काफी खुश और उत्साहित नजर आ रहे हैं। उद्यमियों की मानें तो शुरुआत के दो-तीन दिनों में ठीक-ठाक बिक्री हो रही है |

नुक्कड़ नाटक और गीत-संगीत की होगी प्रस्तुति

सुबह 10 बजे से रात आठ बजे तक खरीदारी मेले में अन्य राज्यों के अलावा जम्मू-कश्मीर से भी लोग आएंगे। लोगों को सामग्री की खरीदारी करने में किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो, इसके लिए कैश के साथ डिजिटल पेमेंट की भी व्यवस्था की गई है। मेले में आने वाले लोगों के लिए प्रवेश मुफ्त है। मेले का द्वार सुबह 10 बजे से लेकर रात आठ बजे तक खुला रहेगा। लोग अपनी जरूरतों के सामान की खरीदारी करने के साथ लजीज व्यंजनों का भी आनंद उठा सकते हैं। मेले में हर दिन नुक्कड़ नाटक एवं गीत-संगीत की प्रस्तुति भी होगी। कुल मिला कर इस बार का Saras Mela 2019 सबों के दिल में अपनी गहरी छाप छोड़ेगा इस बात में कोई शक नहीं है |

UPDATED ON 7th December : WATCH  BIHAR SARAS MELA  2019

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar