वैसे तो आमतौर पर महिलाओं को सौम्य, नाजुक और नर्मदिल माना जाता है, पर आज हम आपको दिखा रहे हैं वो खतरनाक चेहरा जो महिला के इस रूप से बिल्कुल उल्टा है ! जी हां आज हम बात करेंगे भारत के पांच मशहूर लेडी डॉन की जिनके कारनामे सुन आप दांतो तले ऊँगली दबा लेंगे

अस्मिता गोहिल उर्फ भूरी

दोस्तों इसकी खूबसूरती पर मत जाइये ये  लेडी डॉन हाथो में तलवार लहराते हुए दुकानदारों से रुपए वसूलती है | हमेशा गुंडों के साथ घूमने का शौक रखने वाली भूरी डॉन जितनी खूबसूरत है, उतनी खतरनाक भी है। गुजरात की रहने वाली अस्मिता गोहिल उर्फ भूरी की उम्र तो अभी महज 20 साल है, मगर अपराध की दुनिया में उसने काफी नाम हासिल कर लिया है। उसकी दहशत का ये आलम है कि हादसे के बाद भी उसके खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं करवाता  शहर के अलग-अलग पुलिस थानों में लेडी डॉन भूरी के खिलाफ कुल 9 केस दर्ज है। अस्मिता के भूरी बनने की कहानी भी अपराध से ही शुरू हुई थी।  एक मर्डर केस में गिरफ्तार होने के बाद जब वो सबूतों के अभाव में बरी हुई तभी उसकी मुलाकात कुख्यात अपराधी संजय भूरा से हुई थी। दोनों के बीच प्यार हो गया और वे साथ रहने लगे। संजय भूरा के साथ रहने के कारण उसका नाम भूरी डॉन पड़ गया।

संतोकबेन जडेजा

गॉडमदर के नाम से फेमस थी गुजरात की लेडी डॉन संतोकबेन जडेजा। कहते हैं कि उन्होंने अपने पति सरमन मुंजा जडेजा की हत्या का बदला लेने के लिए बंदूक उठायी, पर बाद में पूरे पोरबंदर में एक संगठित अपराधिक गिरोह की सरगना बन गईं।  संतोकबेन पर 14 लोगों की हत्याओं का आरोप था हांलाकि उन्होंने अपनी छवि महिला राबिन हुड जैसी बना रखी थी। और संतोकबेन पर 1999 में एक  फिल्म गॉडमदर भी बनी थी जिसमें उनका किरदार शबाना आजमी ने निभाया था और उस फिल्म को नेशनल अवॉर्ड भी मिला था |

सोनू पंजाबन

राजधानी दिल्ली में सोनू पंजाबन के नाम से बदनाम गीता अरोड़ा देह व्यापार के अपराध से जुड़ा सबसे बड़ा नाम है। पुलिस की मानें तो सोनू पंजाबन मॉडर्न ग्राहकों को प्रभावित करने के लिए इस धंधे से जुड़ी लड़कियों को बुनियादी अंग्रेजी सिखाने के साथ मॉर्डन लुक देती थी। वर्ष 2011 में उसे मकोका के तहत गिरफ्तार किया गया था। सोनू का पहला पति गैंगस्टर था, जो मुठभेड़ में वर्ष 2004 में मारा गया था। उसका दूसरा पति भी 2006 में मारा गया।

बशीरन

मूलरूप से राजस्थान से ताल्लुक रखने वाली बशीरन और उसके परिवार पर 100 से अधिक आपराधिक मामले पुलिस के पास दर्ज हैं। आठ बच्चों की मां 63 वर्षीय बशीरन पर उगाही, डकैती और अवैध रूप से शराब बेचने के मामले दर्ज हैं। संभवत: दिल्ली के सबसे बड़े आपराधिक परिवारों में से एक बशीरन का परिवार है। अपराध की दुनिया में वह ‘गॉडमदर’ के नाम से भी जानी जाती है। बशीरन और उसके परिवार के लोग अक्सर पुलिस के निशाने पर रहते हैं, लेकिन वे जेल से बाहर आते ही दोबारा सक्रिय हो जाते हैं। बशीरन का पति मलखान सिंह ही परिवार का इकलौता पुरुष है, जिसके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं है।

सुनीता उर्फ सुमता विश्नोई

सुमता ने तस्करी जैसे खतरनाक और जटिल धंधे में 50 तस्करों का बड़ा नेटवर्क कैसे खड़ा  किया, यह बात हैरान करने वाली थी |  बकरियां और गायभैंस चरा कर बामुश्किल जिंदगी गुजारने वाली गांव की सीधीसादी औरत कैसे 3 राज्यों की इनामी तस्कर के रूप में खतरनाक ‘लेडी डौन’ बन गई, यह किसी आश्चर्य से कम नहीं था  महज चौथी जमात तक पढ़ी सुनीता उर्फ सुमता विश्नोई ने डोडापोस्त की तस्करी से जो कमाई की थी, पुलिस उस से नहीं, उसके तस्करी करने के तरीके से हैरान थी. 50 तस्करों के गिरोह की मुखिया सुमता अपने इस धंधे में बहुत ज्यादा सतर्कता बरतती थी

 

 

niraj kumar

एक बेहतरीन हिंदी स्टोरी राइटर , और समाज में अच्छीबातोंको ढूंढ कर दुनिया के सामने उदाहरण के तौर पे पेश करते है |
niraj kumar