देश में जारी इस लॉक डाउन में सबसे ज्यादा जो लोग प्रभावित हैं वो हैं प्रवासी मजदूर ! जिनके दम पर कल-कारखाने चलते थे आज उनका पेट चलना मुश्किल हो गया है | अगर कहा जाये की इनके सर से उधोगपतियों और कुछ हद  तक सरकार ने भी अपना हाँथ हटा लिया था  तो ये गलत नहीं होगा | अगर ऐसा नहीं होता तो औरंगाबाद में 16 मजदूरों की दर्दनाक मौत नहीं होती |

कुछ समझ पाते तब तक मौत की आगोश में चले गए

महाराष्ट्र में बतौर मजदूर काम करने वाले मध्यप्रदेश के इन मजदूरों के सामने अपने घर पहुँचने का एक मात्र रास्ता यही दिखा, पर उन्हें क्या पता था की जिस रस्ते पे वे चल रहे हैं वे उनकी अंतिम यात्रा होने वाली है | . हादसे में जान गंवाने वाले सभी 16 मजदूर मध्य प्रदेश के रहने वाले थे | इनमें से 11 शहडोल जिले और 5 उमरिया जिले के थे | ये सभी मजदूर औरंगाबाद से मध्य प्रदेश स्थित अपने गृह जनपद के लिए ​पैदल ही निकले थे | करीब 40-45 किलोमीटर पैदल चलने के बाद ये सभी थककर औरंगाबाद-जालना रेलवे ट्रैक पर सो रहे थे |

गहरी नींद में सोते रहे और इनके ऊपर से मालगाड़ी गुजर गई

पैदल चले इन मजदूरों पर थकान इतनी हावी थी कि इन्होने रेलवे ट्रैक पर हीं अपना बिस्तर जमा लिया इन्हें मालगाड़ी के आने का पता ही नहीं चला |  ये गहरी नींद में सोते रहे और इनके ऊपर से मालगाड़ी गुजर गई | औरंगाबाद के एसपी मोक्षदा पाटिल ने बताया कि दर्दनाक हादसे में जान गंवाने वाले सभी मजदूर भुसावल के लिए निकले थे | यहां से वे श्रमिक स्पेशल ट्रेन के जरिए मध्य प्रदेश लौटना चाहते थे |

हादसे में जान गंवाने वाले मजदूरों की पूरी सूची निम्नवत है

1) धनसिंग गोंड, शहडोल
2) निरवेश सिंग गोंड, शहडोल
3) बुद्धराज सिंग गोंड, शहडोल
4) अच्छेलाल सिंग, उमरिया
5) रबेंन्द्र सिंग गोंड, शहडोल
6) सुरेश सिंग कौल, शहडोल
7) राजबोहरम पारस सिंग, शहडोल
8) धर्मेंद्रसिंग गोंड, शहडोल
9) बिगेंद्र सिंग चैनसिंग, उमरिया
10) प्रदीप सिंग गोंड, उमरिया
11) संतोष नापित, शहडोल
12) ब्रिजेश भेयादीन, शहडोल
13) मुनीमसिंग शिवरतन सिंग, उमरिया
14) श्रीदयाल सिंग, शहडोल
15) नेमशाह सिंग, उमरिया
16) दीपक सिंग, शहडोल

ये गंभीर रुप से हुए घायल

1) सज्जन सिंग धुर्वे, मंडला

ये बचे

1) इंद्रलाल धुर्वे, मंडला
2) वेरेंद्र सिंग गौर, उमरिया
3) शिवमान सिंग गौर, शहडोल

मृतक श्रमिक के परिजनों को दिए जाएंगे 5 लाख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर इस हादसे पर गहरा दुख प्रकट किया |  मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया, ‘औरंगाबाद में हुए रेल हादसे से हृदय पर ऐसा कुठाराघात हुआ है कि मैं उसे शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकता! संवेदना से मन भर जाता है. मैंने रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल जी से बात की है और उनसे त्वरित जांच और उचित व्यवस्था की मांग की है.’

उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा, ‘उसके अलावा प्रदेश सरकार की तरफ से हर एक मृतक श्रमिक के परिजनों को 5 लाख दिए जाएंगे और घायलों के इलाज की पूरी व्यवस्था की जाएगी. मैं विशेष विमान से उच्च अधिकारियों की एक टीम भेज रहा हूं, जो वहां पर मृतकों के अंतिम संस्कार की व्यवस्था करेगी और घायलों को हर सम्भव मदद करेगी.’