एक अदृश्य दानव की वजह से लॉक डाउन का दंश झेल चुके भारत में शायद हीं कोई होगा जिनकी जीविका प्रभावित नहीं हुई होगी, ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि बिहार के वे लोग जो दूसरे राज्य में जीविकोपार्जन करने जाते थे अब बिहार वापस आ गए हैं तो अब वे यहां करेंगे क्या | इस परिस्थिति में पटना बख्तियारपुर के रहने वाले विपिन कुमार झा लोगों के लिए सम्बल का काम कर रहे हैं | बिपिन जी रहने वाले तो बख्तियारपुर के हैं पर पटना के नजदीक परसा के सटे एक गांव में किराये के जमीन पर उन्नत तरीके से बकरी पालन मछली पालन एवं मुर्गी पालन कर  आमदनी कर रहे हैं साथ में लोगों को निःशुल्क प्रशिक्षण भी देते हैं |

बकरी के केज में हीं  करते हैं मुर्गी पालन

जब बिहारस्टोरी की टीम विपिन जी के फार्म पर गई तो वहां देखा की बकरी के बाड़े में हीं  देहाती मुर्गियां भी इन्होने पाल रखी है, पूछने पर विपिन जी ने बताया की यहां हम दो  किस्म के मुर्गी का पालन कर रहे हैं एक है कड़कनाथ तो दूसरा है बनसुन्दरी और इन दोनों से हमे बिना कोई खर्च के अतिरिक्त आमदनी हो जाती है, ऐसा इस लिए की बकरियों द्वारा जो दाना खाने के दौरान जमीन पर गीर जाता है उसे खाकर ये मुर्गियां अपना पेट भर लेती है और लगभग चार महीने में ये मुर्गिया बिकने के लिए तैयार हो जाती है |

चार तरह के बकरी का करते हैं पालन

बिपिन जी अपने फार्म में चार  प्रजाति के बकरी का पालन करते हैं , जिनके नाम है जमनापारी, सिरोही, बरबरी, और ब्लैक बंगाल | बकरी की ये चारो प्रजातियां बिहार के जलवायु में एकदम फिट बैठती है यानि की बिहार में इनका अच्छी तरह से पालन किया जा सकता है | इन प्रजातियों में दो बड़े साइज (जमनापारी, सिरोही ) की प्रजाति है तो दो छोटे ( बरबरी,ब्लैक बंगाल ) प्रजाति की | बड़े प्रजाति की दोनों बकरियों को आप घर पर भी पाल सकते हैं पर छोटे प्रजाति की दोनों बकरियों के लिए थोड़ा-बहुत खुले मैदान की जरुरत पड़ती है |

एक बकरी से होती है सालाना आठ हजार की आमदनी

बिपिन जी कहते हैं की अगर चारो प्रजाति से होने सालाना आमदनी का एवरेज निकाला जाये तो लगभग समान हीं आएगा, अगर आप अच्छे तरीके से बकरी का पालन करेंगे तो एक बकरी से सालाना आठ हजार तक का मुनाफा ले सकते है और अगर आप व्यवसाय करना चाहते हैं तो काम से काम एक साथ 25 बकरी का पालन करें आपको अच्छा मुनाफा होगा |

लोगों को देते हैं निःशुल्क प्रशिक्षण

विपिन झा जी खुद तो लाभान्वित हो हीं रहे हैं साथ में लोगों को बकरी पालन का निःशुल्क प्रशिक्षण भी देते हैं, और कहते हैं आज के युवा जो रकम कमाने के लिए दिल्ली पंजाब हरियाणा का रुख अपनाते हैं उनके लिए सबसे बढ़िया व्यवसाय है बकरी पालन | क्योकि ये ऐसा व्यवसाय है जिसमे कभी मंदी आ हीं नहीं सकती, और ये नगदी फसल की तरह है जिसे जब चाहे बेच कर पैसे कमाए जा सकते हैं |