आज जो स्थिति बन गई है राजधानी पटना की इसमें प्रशासन दोषी है या जनता ये बाद की बात है, पर ये बात सत्य है की यहाँ जो हालात अगले कुछ दिनों में होने वाले हैं वो बिल्कुल साफ हो गया है | आज शायद हीं पटना शहर का कोई मोहल्ला होगा जहां कोरोना में अपनी उपस्थिति नहीं दर्ज कराई हो | देशव्यापी लॉकडाउन के तीन महीनों के दौरान बचाव कम नौटंकी ज्यादा हुआ था, पर असली खेल तो अब शुरू हुआ है |

दस में से चार लोग घूम रहे हैं बिना मास्क के

स्थिति इतनी भयावह होते हुए भी, कुछ लोग इसमें भी अपना मस्ती ढूंढ रहे हैं और बिना मास्क के हीं घरों के बाहर निकल रहे हैं हालाँकि सरकार की तरफ से बिना मास्क के घर से निकलने पर500 रूपया जुर्माना ले रही है, लेकिन यहाँ भी महान आत्माओं की कमी थोड़े है, अब वो लोग मास्क को मुंह पर न लगा कर सिर्फ कान में लटका देते हैं

जारी दिशा निर्देशों का नहीं हो रहा अनुपालन

पटना शहर में बेलगाम कोरोना संक्रमण के कारण अगले सात दिनों के लिए पटना में पुनः लॉकडाउन लगाया गया है और दिशा निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं बावजूद इसके लोग सही तरह से सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों का अनुपालन सही ढंग से नहीं कर रहे हैं ! ऐसे में सरकार को भी चाहिए की जो लोग इसे मजाक समझ रहे हैं उनके खिलाफ कार्रवाई की जाये |

हर रोज मिल रहे हैं 400 मरीज

पहले तो प्रतिदिन कोरोना मरीज की संख्या में दो-तीन की हीं बढोतरी होती थी, पर आज स्थिति बेहद भयावह हो चली है | आज प्रतिदिन 300 से अधिक कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं और सिर्फ पटना में आंकड़ा 2000 के करीब पहुँचने वाला है | यही कारण है की अब प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में 50% बेड कोरोना संक्रमितों के लिए रिजर्व कर दिया गया है

वीडियो के लिए क्लिक करें :-

BIHAR की राजधानी क्या बीमारों की राजधानी भी बनेगी क्या ? दिल दहल जाता है PATNA की स्थिति देखकर

कोरोना से बचना है तो जमे रहें घर पर

दोस्तों आपसे विनम्र निवेदन है कि जब बहुत जरुरत हो तभी घर से बाहर निकलें , और घर से निकलते वक्त मास्क जरूर लगाएं साथ हीं सामाजिक दुरी का ख्याल रखें