दोस्तों दूसरों से सीखना अच्छी बात है पर जो लोग बकरी पालन ( Goat Farming ) में सफल हो रहे हैं सिर्फ ये देख कर लोग भी बकरी पालन ( Goat Farming ) करना शुरू कर देते हैं ये जाने बिना की बकरी का रख रखाव (Goat Maintenance )कैसे करेंगे, बकरी का भोजन (Goat Feed ) कैसा देना होगा बकरियों की प्रजाति     (Goat Breeds ) कैसी एवं पालने की अवस्था कैसी होनी चाहिए और परिणाम काफी भयावह निकलता है | दोस्तों अगर आप वाकई बकरी पालन ( Goat Farming ) करना चाहते हैं और एक सफल गोट फार्मर (Successful Goat Farmer )बनना चाहते हैं तो इसकी आप प्रॉपर ट्रेनिंग ( Goat Farming Training ) लें तभी आप बकरी की सम्पूर्ण जानकारी (Goat Complete Information ) मिलेगी वरना मेरी सलाह है कि बकरी पालन ( Goat Farming )  न करें | आज पांच प्रमुख बिंदु पर बात करेंगे जो बकरी पालन ( Goat Farming ) करने के लिए महत्वपूर्ण है

1बकरी पालन ( Goat Farming )के लिए बकरी के सही अवस्था का चुनाव (Choosing The Right State Of Goat) –

अक्सर लोग यहीं पर मात खा जाते हैं और बकरी पालन ( Goat Farming )की शुरुवात मेमने से करने लगते हैं जबकी ये उनके लिए नुकसान दायक साबित होता है जबकि जब भी बकरी पालन की शुरुवात करें तो बच्चे देने वाली बकरी से करें

2सही ब्रीड का चुनाव –

बकरी पालन की सफलता (Successful Goat Farmer) इस बात पर निर्भर करती है की आप कौन से बकरी ब्रीड  ( Goat Breeds ) जमनापारी बकरी ( Jamnapari Goat Breeds ) सोजत बकरी Sojat Goat Breeds ) बीटल बकरी (Beetal Goat Breeds) सिरोही बकरी ( Sirohi Goat Breeds ) ब्लैक बंगाल बकरी ( Black Bangal Goat Breeds ) या बारबरी ( Barbari Goat Breeds ) से पालन कर रहे हैं | दोस्तों आप जब भी बकरी पालन की शुरुवात करें लोकल ब्रीड ( Local Goat Breeds ) से करें और छोटे ब्रीड ( Small Goat Breeds )से करें इससे आपको पालने में भी आसानी होगी और मार्केटिंग ( Goat Marketing ) में भी कोई दिक्कत नहीं होगी कभी भी आप बकरी के सुंदरता पर न जाएँ और बड़े प्रजाति की बकरी से शुरुवात न करें

3 बकरी के भोजन की व्यवस्था –

अगर आप बकरी पालन कर रहे हैं तो बकरी पालन करने से पहले बकरी के एक वर्ष का सूखा चारा (Dry Feed ) जैसे चने का भूसा (Gram Husk)मसूर का भूसा (Lentils Husk )जिसे बकरी बहुत चाव से खाती है एवं अनाज का छिलका (Grain Peel ) चोकड़ (Grain Chokad) की व्यवस्था सीजन में हीं कर ले वरना बाद में चारा ख़त्म हो जाने पर आपको बाजार से महंगे दाम में खरीदनी पड़ सकती है साथ हीं हरे चारे के लिए सुपर नेपियर घास (Super Napier Grass

) की भी व्यवस्था करें |

4 . बकरी के शेड (Goat Shed )की बनावट –

बकरी पालन  ( Goat Farming )में आपकी सफलता इस बात पर भी निर्भर करेगी कि आप बकरी के शेड का निर्माण (Goat Shed Construction )किस तरह से कर रहें हैं आप जब भी बकरी के शेड का निर्माण (Goat Shed Construction) करें तो उसकी लम्बाई पूरब से पश्चिम की ओर होनी चाहिए एवं निकास उत्तर की तरफ साथ हीं ध्यान रहे की बकरियां नमी बर्दाश्त नहीं कर सकती इस लिए आप ऊँचे स्थान का चयन करें एवं पेशाब के निकास की समुचित व्यवस्था होनी चाहिए इसके अलावा बकरियां लकड़ी पर बैठना पसंद करती है तो हो सके तो फार्म के निचे के सतह को लकड़ी से पाट दें |

5 बकरी का टीकाकरण (Goat Vaccination )  –

बकरी पालन ( Goat Farming ) का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है (Goat Vaccination ) बकरी का टीकाकरण ! आप कहीं से भी बकरी खरीद कर लाएं ये आप भूल जाएँ की उसका टीकाकरण (Goat Vaccination ) हुआ होगा आप अपने यहाँ उसका सुरक्षित टीकाकरण करवाएं और रजिस्टर मेंटेन करें

अगर इन पांच बिन्दुओ का आप ख्याल रखेंगे तो दुनिया की कोई ताकत आपको बकरी पालन ( Goat Farming )में सफल होने से नहीं रोक सकती

Niraj Kumar
Latest posts by Niraj Kumar (see all)