राजहंस (RajHans) एक स्थानीय पक्षी है, जो भारत के अलग-अलग हिस्सों में वास करता है। यह एक सामाजिक पक्षी (Social Bird ) है, जो झुंड बनाकर झीलों के किनारे रहना पसंद करते हैं | खूबसूरत पक्षी राजहंस (Raj Hans) का रंग सफेद, पंखों का पीछे का हिस्सा गुलाबी, नीचे के कुछ पंखों पर काला रंग और पैर व चोंच लाल रंग की होती है। इस पक्षी के पैर इसके शरीर से बड़े होते हैं। इसकी ऊंचाई करीब पांच फीट तक होती है। राजहंस (Raj Hans) कई घंटों तक एक ही पांव पर खड़ा रह सकता है | राज हंस (Raj Hans)  के सामाजिक गुण के कारण हीं लोग राजहंस (Raj Hans) को अपने घरों में पालना पसंद करते हैं, और अब हर राज्य में इसकी फार्मिंग भी शुरू हो गई है |

मांस के लिए नहीं शौक के लिए पालते हैं लोग इसे

राज हंस बतख की हीं प्रजाति है जो अपने विशिष्ट गुणों के कारण लोगों की पसंद बनता जा रहा है | काफी प्यारा दिखने वाला यह जलीय पक्षी का जीवन काल 5-6 वर्ष का होता है और अपने जीवन काल में हर वर्ष अक्टूबर नवम्बर के महीने में 20 -25 अंडे देती है | इसे लोग अन्य पक्षी की तरह मांस के उत्पादन के लिए नहीं बल्कि शौक के लिए पालते हैं क्योकि राजहंस एक सामाजिक पक्षी होता है एवं इंसानो से काफी जल्दी घुल-मिल जाता है |

बेहतरीन गार्ड का भी काम करता है राजहंस

वैसे तो राजहंस शांत पक्षी है और लोगों से काफी जल्दी  घुल मिल जाता है पर अनजान लोगों को देख चीखना शुरू कर देता है और कभी-कभी चोंच से हमला भी करता है और किसी अनजान को घर के अंदर घुसने से रोकता है | इस तरह राजहंस एक बढ़िया गार्ड का भी काम करता है, इन्ही गुणों के कारण लोग अपने फार्म हॉउस में राजहंस पक्षी को पालना पसंद करते हैं इसके अलावा जो लोग मछली पालन (Fish Farming ) करते हैं

खूबसूरत पक्षी फ़्लेमिंगो (राजहंस ) के बारे में जानकार हैरान हो जायेंगे

किसानों का परम मित्र है राजहंस

जो लोग मछली का पालन करते हैं उनके लिए भी राज हंस पालना (Raj Hans Farming ) फायदेमंद है, ऐसा इस लिए की मछली वाले तालाब में राजहंस (Raj Hans) की मौजूदगी से आपका मछली का तालाब (Fish Pound ) सुरक्षित हो जाता है क्यों की मछली पालन (Fish Farming ) में नुकसान पहुँचाने वाले जीव जैसे मेंढक  एवं सांप को राज हंस खा जाता है साथ हीं ये मछलियों को नुकसान नहीं पहुंचाता इसके अलावा आपके गैरहाजिरी में अगर कोई आपके तालाब में मछली मारने की कोशिश करता है तो ये ऊँची आवाज में चीखने लगता है | और आप अगर बतख पालन (Duck Farming )करते हैं तो उसके साथ तीन-चार राजहंस ((Raj Hans) )जरूर पाले ये राजहंस (Raj Hans) आपके बतख  (Duck )को इधर-उधर भटकने नहीं देगा |

पक्षियों में श्रेष्ठ हंस को माना जाता है।  इसे बहुत विवेकी और शांत चित्त पक्षी माना गया है। हंस पक्षी प्यार और पवित्रता का प्रतीक है। ये जीवनभर एक ही पार्टनर के साथ रहते हैं। यदि दोनों में से किसी भी एक पार्टनर की मौत हो जाए तो दूसरा अपना पूरा जीवन अकेले ही गुजार या गुजार देती है

Niraj Kumar
Latest posts by Niraj Kumar (see all)