Desi Murgi Paalan  देश में इन दिनों एक मुख्य रोजगार के रूप में उभर रहा है खासकर ग्रामीण इलाकों में तो इसकी  बढ़ोतरी देखी जा सकती है। किसानों के लिए Poultry farmingएक बहुत अच्छा साइड इनकम हो सकता है इससे वे साल भर कमा सकेंगे। लोगो में अंडा मीट हमेशा से पसंद किया जाता है और इसकी डिमांड होती है। या यूँ कहें की कभी कभी जितनी खपत होती है उतनी उपलब्धता भी नहीं हो पाती है तो ऐसे में मुर्गी पालन (Poultry farming) व्यवसाय घाटे का सौदा बिलकुल भी नहीं है अगर इसपे मेहनत की जाये ढंग से रख रखाव किया जाये  तो बहुत फायदा कमा सकते हैं। Poultry farm अपना खुद का छोटा व्यवसाय खोलने के लिए एक बहुत ही अच्छा विकल्प है। लॉक डाउन से हुई दिक्कतों के बाद बहुत से लोगों ने इस ओर का रुख भी किया है। और जिन्होंने नहीं किया है वो भी इस और रुख कर सकते हैं क्यूंकि अपने गाँव में रहते हुए करने के लिए काम Poultry farm बहुत अच्छा विकल्प है ।

मुज़्ज़फ़्फ़रपुर (Muzzfarpur) के मोतीपुर प्रखंड के रामजन्म जी FFG Breed की देसी मुर्गियों का पालन कर रहे हैं। अक्सर मुर्गी पालन (Poultry farming) का सोचने पर बहुत से सवाल दिमाग में आते हैं की कौन सी ब्रीड का पालन करें ,देसी में कौन सी ब्रीड का पालन करें की नुकसान का खतरा कम रहे। तो रामजन्म जी के अनुसार FFG Breed की देसी मुर्गियों से शुरुआत की जा सकती है।

FFG मुर्गियों की विषेशताएं

FFG मीट और अंडा दोनों के लिए बहुत ज्यादा अच्छा माना  जाता है। इससे आप दोनों व्यवसाय आसानी से शुरू कर सकते हैं।

FFG मुर्गियों का वजन 4 किलोग्राम तक है जो की अन्य मुर्गियों के के मुक़ाबले ज्यादा है।

FFG आम मुर्गियों के मुक़ाबले महंगा होता इसकी मार्किट प्राइस अच्छी होती है।

FFG

Poultry farming के शुरुआत से पहले  छानबीन जरुरी है

किस भी काम को करने से पहले आपको उसके छानबीन जरुरी है जैसे मुर्गी पालन (Poultry farming) के विषय में जानकारी लेना आसपास से या किसी ऐसे से भी मिला जा सकता है जो पहले से Poultry farming कर रहा हो।

इसके बाद मार्किट मेन्टेन करना भी बहुत जरुरी है क्यूंकि अगर मार्किट नहीं होगा तो नुक्सान का सामना करना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें : लेयर फार्मिंग की हकीकत

मुर्गीपालक (Poultry farmer) रामजनम जी की राय

रामजनम जी के शेड में कुल 600 चूजे हैं जो 8 दिन से लेकर 22 दिन के हैं। इनका वजन 2 किलो होने में 70 दिन के करीब लग जाते हैं। 2 किलो वजन होने पर मार्किट में ये 150 रुपये में बिकते हैं। अगर अंडे के लिए आप पालन कर रहे हैं तो 5 महीने तक इंतजार के बाद से अंडे देने लगती है 70 से 80% तक। FFG साल भर में 200 से ज्यादा अंडे देने की क्षमता रखती है अगर इसका ररख रखाव अच्छे से किया जाये।  इनके अण्डों की कीमत 8 से 10 रुपये मार्किट रेट हैं और ये मुर्गियां 2 साल तक अंडे देती हैं।

मुर्गियों के खाने का इंतजाम

शुरू के 15 दिन उन्हें Pre starter खिलाना पड़ता है उसके बाद Starter। आप उन्हें विभिन्न प्रकार का चारा भी दे सकते हैं  जैसे गेहूं मगर ज्यादा अच्छी ग्रोथ के लिए अलसी बहुत लाभदायक  मानी जाती है।  इसे वे स्वस्थ रहते हैं और उनका वजन भी बढ़ता है क्यूंकि वजन एक बहुत बड़ा Factor है इसलिए इसका ध्यान रखा जाना  जरुरी है। इसके आलावा मुर्गियों के पानी का इंतजाम भी जरुरी है। बर्तन के साफ़ सफाई का ध्यान रखा जाना चाहिए। मुर्गियों को खाना रात के जगह दिन में देना ज्यादा अच्छा होता है क्यंकि वे रात में ज्यादा खाती नहीं है और इससे उनके वजन पर असर पड़ सकता है।

FFG

Poultry Farm खोलने के लिए सरकारी सहायता

बिहार पोल्ट्री फार्म योजना के तहत सरकार (Poultry Farm) पोल्ट्री फार्म खोलने के लिए तरह तरह की मदद कर रही है। अगर आप में मुर्गी पालन के गुर हैं तो कुछ डाक्यूमेंट्स के मदद से बैंक में आपको लोन भी दी जाती है। (Poultry Farming) मुर्गी पालन को बढ़ावा देने के लिए और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने ये प्लान बनाया है। इसमें मुर्गी खरीदने और फार्म बनवाने के लिए पैसा दिया जाता है।  इसके लिए आपको आधार कार्ड, अथवा कोई भी पहचान पता और दो पासपोर्ट साइज फोटो की जरूरत  होती है।

अगर आप भी इच्छुक हैं मुर्गी पालन (Poultry farming) में और शुरू करना चाहते हैं अपना खुद का  व्यवसाय तो ये बहुत ही अच्छा विकल्प है और सरकार से मिल रही मदद एक अच्छा अवसर तो प्लान करें, ट्रैंनिंग लें और आप भी शुरूकर सकते हैं अपना खुद का (Poultry Farm) पोल्ट्री फार्म। और बन सकते हैं छोटे व्यवसायी।

                            WATCH VIDEO