मशहूर बनाने के लिए बकरों का रखा शाहरुख़ और सलमान नाम

पटना का बकरी बाज़ार पूरी तरह से सज चुका है. लोग अपनी पसंद का बकरा बुक करने के लिए मार्केट की तरफ पहुँच चुके हैं. जगदेवपथ पुल के आखिरी छोर पर स्थित राजा बाज़ार में ग्राहकों के लिए अलग-अलग नस्ल के बकरे सज-धज के तैयार हैं. ऐसे में आपकी सहूलियत के लिए हम बाज़ार गए थें और साथ लाए हैं ढेर सारी जानकारियां.

हज़ारों में बिक रहे हैं शाहरुख और सलमान

बकरी बाज़ार में विक्रेता देश के अलग-अलग राज्यों से पशुधन के साथ आये हैं. बाज़ार में ग्राहकों के लिए अलग-अलग नस्ल के बकरे मौजूद हैं. बलिया से आए अब्दुल बारिद राजस्थानी, बरबरी और यूपी-बिहार की देशिया प्रजाति के बकरे लेकर आये हैं. उनके बकरे 90 से 110 किलो के हैं जिनका दाम 55 हजार तक है. वहीँ 45 किलो के ब्लैक बंगाल बकरे का दाम 25 हज़ार है.

बाज़ार में बिक रहे बकरों के दाम उनकी नस्ल के हिसाब से रखे गए हैं. शाहरुख़ और सलमान को लेकर आए व्यपारी कहते हैं कि उन्होंने अपने बकरों को बच्चों की तरह पाला है. एक बकरे का वज़न सौ से सवा सौ क्विंटल है. मेवा खाने वाले शाहरुख़ और सलमान के मालिक दोनों को साथ में बेचना चाहते हैं. विशालकाय दिखने वाले इन बकरों की संयुक्त कीमत 2.5 लाख रूपए रखी गयी है.

यह भी पढ़ें- PATNA के इस युवा उधमी ने RO WATER BUSINESS पढ़ाई के दौरान शुरू किया और आज चार लोगों को दिया JOB

तोतापरी नस्ल के बकरे लेकर राजा बाज़ार आये अनवर बताते हैं कि कुर्बानी के बकरों का दाम उनकी खूबसूरती के हिसाब से रखा जाता है. वजन के अनुसार बकरों का दाम 1000-1500 रूपए/किलो रूपए तय किया गया है. इन बकरों की सेहत और सुंदरता का ख़ास ख्याल रखा जाता है. अनवर कहते हैं- “ बकरों की सेहत पर करीबन एक लाख तक का खर्च आता है. तीसी की खली, चना का दलिया, और काजू-किशमिश खिलाया जाता है.” तोतापरी नस्ल के 50 किलो वजनी बकरे का दाम करीबन 42000 रु है.

अल्लाह के नाम का ख़ास बकरा

ब्लैक बंगाल के 7-8 किलो के छोटे बकरे का दाम 6 से 7 हज़ार है. आरिफ खान एटा, उत्तर प्रदेश से 400 अलग-अलग तरह के बकरे लेकर आए हैं. सरोई, जमुनापारी के 70 किलो बकरों का 35000 रूपए है.

90 प्रतिशत दिखता है नबी का नाम

आरिफ खान के पास एक बेहद ही स्पेशल बकरा है. जमुनापारी नस्ल के 55 किलो के इस बकरे के कान पर ‘मोहम्मद सल्लल्लाहो वाले वसल्लम’ का नाम लिखा है. नाम 90 प्रतिशत तक देखा जा सकता है. अल्लाह के नाम वाले इस बकरे की कीमत 60,000 रूपए रखी गयी है. आरिफ कहते हैं कि इस बकरे की कुर्बानी का दोगुना शबाब मिलेगा.

किन बातों का रखें ध्यान

कुर्बानी के लिए ख़रीदे जाने वाले बकरे ख़ास होते हैं. ऐसे में इन बकरों को खरीदते हुए कुछ बातों का ध्यान रखा जाता है. दानापुर से बकरे लेने आये जॉली बताते हैं कि बकरे बीमार या घायल नहीं होने चाहिए.

  • एक व्यक्ति को बकरे अपनी आमदानी के अनुसार खरीदने चाहिए.
  • कुर्बानी के बकरे अच्छे और नेक मन से खरीदने चाहिए.
  • दिखावे या जलन के मारे बकरे खरीदने से बचना चाहिए.

कैसा है बाज़ार का हाल

बाज़ार में विक्रेता और ग्राहक की कमी नहीं है. फिर भी बकरों की खरीददारी पहले की तरह नहीं हो रही है. दूर से आये विक्रेताओं का कहना है कि बाज़ार पर लॉकडाउन का असर साफ़ दिख रहा है. पिछले सालों के मुताबिक दाम कम रखे गए हैं. इसके बाद भी खरीददार मोल-भाव में लगे हैं. जो कीमत मिल रही है उसमें मुनाफा तो दूर डीजल की कीमत भी नहीं निकल पा रही है.