मीट और अण्डों के बढ़ते डिमांड के कारण मुर्गी पालन(Poultry farming) ग्रामीण इलाकों में Poultry Farming सबसे ज्यादा अच्छा व्यवसाय माना जाता है। Poultry Farm बहुत ही कम लागत से शुरू किया जा सकता है और इसमें कमाई भी बहुत अच्छी है साथ ही आप अगर शुरुआत में ज्यादा खर्च नहीं करना चाहते तो अपने घर से भी Poultry Farm की शुरुआत कर सकते हैं  Sonali Murgi शुरुआत के लिए अच्छा विकल्प है। और जब लगे की अच्छा मुनाफा है तो और ज्यादा लागत लगा सकते हैं और अपनी कमाई को ऊंचाई दे सकते हैं।

बाड़ के अटनामा के मुर्गी पालक (Poultry Farm) दम्पति :

बाड़ के अटनामा गाँव में एक किसान दम्पति संजीत कुमार और ममता देवी ने २० मार्च से सोनाली मुर्गी पालन Sonali murgi paalan की शुरुआत की। सबसे पहले वो गाडी चलाने का काम करते थे फिर आमदनी से संतुष्ट न होने पर उन्होनें प्याज का गोडाउन शुरू किया मगर जब वो कहीं से भी अच्छी आमदनी नहीं कर पाए तो उन्होंने अपने घर से सोनाली मुर्गी फार्म (Poultry Farm) की शुरुआत की। वे बताते हैं की मुर्गी पालन व्यवसाय (Poultry farming business) से वो बहुत ही ज्यादा संतुष्ट हैं। दोनों पति पत्नी मिलकर मुर्गियों की देखरेख करते हैं और इससे उन्हें अच्छी कमाई आ जाती हैं। उन्होंने 1000 मुर्गियों से पालन शुरू किया और केवल 4 महीनों में बहुत अच्छी कमाई की।

baad dampati

यह भी पढ़ें : बटेर पालन किसानों की नयी उम्मीद।

संजीत जी बताते हैं  पोल्ट्री फार्म (Poultry Farm) से जुडी छोटी छोटी बातें।

सबसे पहले वो 12 by 12 के कमरे में 1000 सोनाली मुर्गी के चूजों को रखते हैं और करीब 8 दिन के बाद उसे Brooding room में शिफ्ट कर देते हैं जो 20 by 40 का कमरा है। इन्होने हवा ,पानी और साफ़ सफाई का ध्यान रखते हुए एक बहुत ही अच्छा poultry farm का निर्माण किया है। वे बताते हैं कि कैसे उन्होंने poultry farm के टेम्प्रेचर को शिफ्ट करने का भी पूरा पूरा ध्यान रखा है। गर्मी के मौसम में वो 2 watt के LED बल्ब का उपयोग करते हैं और ठण्ड के मौसम में 200 watt के बल्ब का इस्तेमाल करते हैं जिससे की Temperature maintain रहे। वे 12 by 12 के चूजों वाले कमरे में 3 ,500 वाट के हलोजन बल्ब रखते हैं जिससे चूजों को किसी तरह की परेशानी न हो और वे स्वस्थ रहे।

सोनाली मुर्गी (Sonali murgi)की विशेषता :

Sonali murgi देखने में बिलकुल देसी मुर्गियों के तरह होते हैं पर इनका स्वाद बहुत ज्यादा पसंद किया जाता है।

80 से 84 दिनों में इनका वजन डेढ़ से दो किलो तक का हो जाता है।

Sonali murgi में रोगों की संभावनाएं बहुत कम होती हैं तो दवाओं पे खर्च ज्यादा नहीं होता।

चूजों को मंगवाने के बाद भी उन्हें वैक्सीनेशन देने की जरुरत नहीं पड़ती।

baad dampti

मुर्गी पालन (Poultry Farming) कैसे करें:

Poultry Farming बहुत ज्यादा मुश्किल काम नहीं है। सबसे पहले उनके पालन के लिए उचित जमीन की जरुरत होती है।  शुरुआत में घर से भी Poultry farming कर सकते हैं मगर आप बड़ी तादाद में पालन करना चाहें तो उसके लिए Poultry farm खोलना पड़ेगा। जमीन ऊंचाई पर हो तो इसका ध्यान रखना जरुरी है ताकि बारिश का पानी किसी भी रूप में प्रवेश न कर पाए। फार्म की साफ़ सफाई का ध्यान रखना भी बहुत जरुर

                                     WATCH VIDEO

क्या कहते हैं मुर्गी पालक(Poultry Farmer) संजीत जी :

मुर्गी पालक संजीत जी कहते हैं कि Poultry Farming एक बहुत ही अच्छा व्यवसाय है। अगर आप मेहनत करते हैं तो इसमें आसानी से अच्छी कमाई कर सकते हैं।मुर्गी पालन व्यवसाय में मेहनत करने की बहुत आवश्यकता होती है। मुर्गियों के रख-रखाव ,फार्म की साफ़-सफाई, मुर्गियों के लिए पौष्टिक आहार आदि का उचित प्रबंध करना बहुत आवश्यक होता है।

तो अगर आप भी पोल्ट्री फार्म (Poultry Farm) खोलने का सोच रहे हैं तो सोनाली मुर्गी (Sonali murgi) आपके लिए एक बहुत अच्छा विकल्प है। आज के समय में बहुत से लोग Poultry farm के व्यवसाय से जुड़े हैं क्यूंकि वर्तमान में ये बहुत ही अच्छा आमदनी वाला व्यवसाय माना जा रहा है और अंडे और मुर्गियों के बढ़ते डिमांड के कारण इसमें नुक्सान के भी खतरे काम हैं।