Author Archives: subham Gupta

Articles

हिंदी दिवस विशेष :- बिहार के लेखक जिन्होंने हिंदी साहित्य को एक नई ऊँचाई प्रदान करवाई पौराणिक काल मे महर्षि वाल्मीकि जी ने ही बिहार की धरती पर रामायण रची थी तो मध्यकाल में कालिदास ने ही बिहार की धरती से सम्पूर्ण विश्व मे नाम कमाया था ; ऐसे कई नाम है जिनके साहित्य के कार्यो के बदौलत बिहार के नाम पूरी दुनिया भर में प्रसिद्ध है

दिनांक - 14-09-19 को हमारी मातृभाषा हिंदी का दिवस है ; हिंदी संस्कृत भाषा का एक प्रयोजित रूप है ; हिंदुस्तान में भाषा का आदान-प्रदान मूलरूप से इसी भाषा के…
Continue Reading
Featured

लालबाग के राजा :- एक आस्था की विरासत जो आज़ादी के पहले से अब तक चली आ रही है :- लालबाग मंडल ने अपने गणपति को अहम बनाने के लिए समाज कल्याण से जुड़े कई काम किए हैं। बात चाहें देश के बंटवारे में बेघर लोगों की मदद की हो या फिर 1959 में बिहार में बाढ़ से मची तबाही की हो या फिर 1962 और 65 का युद्ध हो। हर मुश्किल घड़ी में इस पंडाल ने आर्थिक मदद की है और ये सिलसिला किसी ना किसी रूप में अभी तक जारी है।

हिन्दू परंपरा में देवी-देवताओं की पूजा में सवर्प्रथम पूजे जाने वाले भगवान गणपति बप्पा का त्योहार "गणेश चतुर्थी" 02/09/19 से आरंभ होने जा रहा है , जब बात गणपति बप्पा…
Continue Reading
Bihar

महज़ 38 साल की उम्र में एक शक्तिशाली क्षेत्रीय क्षत्रप के रूप में उभरे धुरंधर नेता का निधन :जगन्नाथ मिश्रा देश के पहला सबसे युवा मुख्यमंत्री से चारा घोटाला तक का सफर तय करते हुए राजनीती के गलियारों में जिसने कई उतार चढाव देखे

बिहार Bihar के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र (Ex Bihar CM Jagannath Mishra) का दिल्ली में निधन हो गया | 82 वर्षीय जगन्नाथ मिश्र (Jagannath Mishra) लंबे समय से बीमार थे…
Continue Reading
Dynamic Youths

जामयांग शेरिंग :- छात्र-नेता से सांसद बने लद्दाख के ये सांसद रातों-रात बन गया हीरो जामयांग शेरिंग (Jamyang Tsering Namgyal) ने संसद तक के सफर में लंबा रास्ता तय किया है । राजनीति के मैदान में उन्होंने पहला कदम जम्मू में रखा , वे यहां ऑल लद्दाख स्टूडेंट एसोसिेएशन (ALSA) के नेता थे।

5 अगस्त को यह ऐतिहासिक कदम के बाद लोकसभा (Loksabha) में 6 अगस्त को आर्टिकल 370 (Article 370) पर बहस चल रही थी, हर सांसद बारी-बारी से इस पर अपनी…
Continue Reading
Featured

भारत के सबसे कम उम्र के स्वतंत्रता सेनानी बाजी राउत (1926-1938) ; मात्र 12 वर्ष की उम्र में हुए थे शहीद:- मात्र 12 वर्ष की आयु में भी बाजी राउत का हौंसला व साहस अदम्य था। उसने अंग्रेजों को नदी पार कराने के लिए साफ़ इंकार कर दिया।

स्वतंत्रता दिवस 2019 - सदियों की गुलामी के पश्चात 15 अगस्त सन् 1947 के दिन हमारा देश आजाद हुआ। पहले हम अंग्रेजों के गुलाम थे। उनके बढ़ते हुए अत्याचारों से…
Continue Reading
Bihar

फूहड़ता एवं अश्लीलता की भाषा नही है भोजपुरी ; सस्ती लोकप्रियता के लिए अश्लीलता परोसते है कलाकार :- हाल ही मे उतरप्रदेश, बिहार एवं झारखंड मे भोजपुरी गायिका अक्षरा सिंह प्रियंका का एक गाना धूम मचा रहा है जिसका मुखङा है, गांधी जी हमरा चोली में । ऐसे कलाकार गीत की स्तुति लिखते समय इनके हाथ भी नही कांपते की वे देश के राष्ट्रपिता के बारे में इतनी अभद्र टिप्णी कर रही है ।।

"भोजपुरी" इस शब्द में एक ऐसा वजन है जिसे सामने वाला सुनकर एकदम से सख़्त हो जाता है और मुस्कुरा कर पूछता है कि "क्या आप बिहार से है" ।…
Continue Reading
Featured

1990 का कश्मीर और कश्मीरी पंडित :- कश्मीरी पंडितों को 1990 में पाकिस्तान द्वारा प्रायोजित आतंकवाद की कारण से घाटी छोड़नी पड़ी या उन्हें जबरन निकाल दिया गया। पनुन कश्मीर काश्मीरी पंडितों का संगठन है।

दिनांक - 05-08-19 को सरकार द्वारा एक ऐतिहासिक फ़ैसला लिया गया जिसमें कश्मीर में आज़ादी के वक्त से लागू धारा 370 आर्टिकल 35A को समाप्त कर दिया गया ; इस…
Continue Reading
Articles

चौड़ी बिंदी , साड़ी और चेहरे पर मुस्कान वाली सुषमा स्वराज Sushma Swaraj हमारे बीच अब नही रही :- सुषमा स्वराज ने अपने अंतिम ट्वीट में लिखा था, ''प्रधानमंत्री जी, आपका हार्दिक अभिनन्दन. मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी.''

भारत की पूर्व विदेश मंत्री और भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज Sushma Swaraj का निधन हो गया है. उन्हें दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया…
Continue Reading
Articles

बिहार की वार्षिक पीड़ा :- “बाढ़” (Flood) एक स्थिति बाढ़ के कारण बिहार और असम में 1.06 करोड़ लोग प्रभावित हुए, बिहार में बाढ़ और बारिश की वजह से अब तक 127 की मौत

बिहार है तो देश का एक राज्य ही परन्तु बिहार पूरे देश मे बसता है , देश के कोने - कोने में बिहार की परछाई कही ना कही देखने को…
Continue Reading
Featured

मातृ भाषा से अधिक उपयोग होने वाली ( Kaithi Lipi )’कैथी लिपि’ हो गई है कहीं गुम कैथी लिपि (Kaithi Script) को कभी कभी 'बिहार लिपि' (Bihar Script) भी कहा जाता है। कैथी का इस्तेमाल अवध, बिहार और बंगाल में होता था. कायस्थों की यह भाषा कोर्ट या दफ़्तरों में खूब चलती थी

कैथी, या कायथी भा कायस्थी, उत्तर भारत में इस्तेमाल होखे वाली एक ठो पुरान लिपि यानि लिखाई के सिस्टम हऽ। बीसवीं सदी के बीच के समय ले ई लिपि मुख्य…
Continue Reading