Archives for Articles

Articles

‘बिहारी’ भाषा'(Bihari language) शब्दावली का यह अनूठा समूह जो हमेशा के लिए हर बिहारी वासियों के  साथ रहता है,चाहे वो किसी भी बड़े महानगर में क्यों न रह रहे हों | 'बिहारी भाषा' विशिष्ट लहजे में बोली जाने वाली शब्दों की एक विशिष्ट पसंद है| जिससे लोगों के बीच आपस मे प्यार और सम्मान झलकता है |

बिहार पूर्वी भारत मे बसा हुआ एक छोटा सा राज्य है  जो नेपाल की सीमा पे स्थित है। यह गंगा नदी द्वारा विभाजित है|यहाँ बहुत सारे तीर्थ स्थल है जिसमे …
Continue Reading
Articles

साहित्यिक स्रोत प्रदान करने वाले बिहार राज्य के मशहूर पुस्तकालय जो अभी भी है बरकरार| इतिहास में एक विशेष स्थान रखने वाले पटना शहर के कुछ प्रसिद्ध पुस्तकालय सिन्हा लाइब्रेरी, खुदा बख्श लाइब्रेरी, और एनआईटी पटना के केंद्रीय पुस्तकालय |

किसी ने सच ही कहा है  लोग खुद को एक पुस्तकालय में खोजते हैं।क्युकी उनके विचारों की उत्पत्ति का एक जगह है,जिसका नाम पुस्तकालय है |  एक ऐसा स्थान जो…
Continue Reading
Articles

छात्रों के संघर्ष का अद्धभुत मिश्रण है TVF की “कोटा फैक्ट्री” , बिहार के रंजन राज कर चुके है इसमें काम ; टी०वी०एफ (TVF ; The Viral Fever Production) के द्वारा निकली गयी है जिसका शीर्षक "कोटा फैक्ट्री" है , वह आजकल बेहद लोकप्रिय हो रहा है ख़ासकर वेसे युवा छात्रों के लिए जोकि अपने घर से दूर रहकर बाहर शहर में इंजीनियरिंग अथवा कम्पटीशन जैसी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे है

आज के जमाने मे युवा वेब-सीरीज़ की कड़ी में बेहद रुचि रखते है एवं युवाओं के बीच वेब-सीरीज काफी लोकप्रिय भी हो रही है , कारण भी है वेब-सीरीज में…
Continue Reading
Articles

बिहार-उत्तरप्रदेश की सीमा पर बसा हुआ एशिया का सबसे बड़ा गांव “गहमर” जो सैन्य छावनी के नाम से भी जाना जाता है | इस गाँव के करीब दस हज़ार फौजी इस समय भारतीय सेना में जवान से लेकर कर्नल तक विभिन्न पदों पर कार्यरत हैं, जबकि पाँच हज़ार से अधिक भूतपूर्व सैनिक हैं ।

गहमर एक ऐसा गांव जो बिहार-उत्तरप्रदेश की सीमा पर बसा हुआ है ,जो आज वीर सिपाहियों गढ़ से प्रसिद्ध है | इस गांव की ख्याति महज देश तक ही सीमित…
Continue Reading
Articles

लोकतंत्र का महापर्व ; जिसमें लोकतांत्रिक स्याही से मिलता है मतदान का प्रमाण :- 1.339 बिलियन आबादी वाले देश मे इस बार 2019 में कुल 900 मिलियन भारतीय 17वी० लोकसभा में मतदान करने हेतू पात्र है ।

विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र भारत मे स्थित है जोकि इस समय अपने पूरे प्रवाह में है । शब्‍द की हर दृष्‍टि से यह महापर्व है - अनूठे ड्रामा, दर्शक…
Continue Reading
Articles

अतीत के पन्ने पर दूरदर्शन का इतिहास जो कभी हुआ करता था कंपलीट इंटरटेनमेंट चैनल| आज के ज़माने में प्रसारित टीवी पर जो चैनल चलते है उनका आज़ादी से 90 के दशक तक तो कोई वजूद ही नहीं था , उस वक्त केवल एक सिद्धांत के वजूद के अनुसार टीवी चलता था जोकि था "दूरदर्शन" ।

आजकल के आधुनिकीकरण एवं विज्ञान - तकनीक ने जमाने को पूरी तरह से बदल दिया है । जिसका एक अद्भुत उदाहरण सूचना एवं मनोरंजन के छेत्र से ही मिलता है…
Continue Reading
Articles

हम 1 मई को ही मई दिवस या मजदूर दिवस ( Labour Day )के रूप में क्यों मनाते हैं? मजदूर का मतलब सिर्फ कीचड़ से सना हुआ इंसान नहीं बल्कि फाइल की बोझ से दबा हुआ इंसान भी होता है |

मजदूर  का मतलब सिर्फ कीचड़ से सना हुआ इंसान नहीं बल्कि फाइल की बोझ से दबा हुआ इंसान जो किसी संस्थान  के लिया  काम करता है और उसके बदले वो…
Continue Reading
Articles

पढ़ें बाबू वीर कुंवर सिंह ( Veer Kunvar Singh ) जी के जीवन की कुछ रोचक बातें एक कुशल योद्धा के रूप में प्रसिद्ध वीर कुंवर सिंह अपने छापामार युद्ध करने की कुशलता के दम पे अंग्रेजों को 7 बार पराजित किये थे

सालों की मांसपेशियों में उठा  जूनून पुराना  था, इसलिये तो लोग कहते है वो महापुरुष बड़ा सयाना था| इस वीर पुरुष के साहस की बड़ाई करते लोग  आज भी नहीं…
Continue Reading
Articles

जलियांवाला बाग ( Jallianwala Bagh ) की वो शर्मनाक नरसंहार, जिस पर 100 वर्ष बाद ब्रिटेन को आई शर्म ब्रितानी सरकार के रिकॉर्ड के अनुसार इस अंधाधुंध गोलीबारी में कम से कम 379 लोग मारे गए जिनमें महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे | हालांकि सूत्रों का कहना है कि इसमें तक़रीबन 1000 लोगों ने अपनी जानें गंवाईं थीं

जलियांवाला बाग ( Jallianwala Bagh ) हत्याकांड ब्रिटिश इतिहास का वो बदनुमा पन्ना है जिसका जिक्र ही अंग्रेजों के लिए शर्मिंदगी का सबब है |  जो अंग्रेज भारतीयों को सभ्य…
Continue Reading
Articles

जानें देश में कहां कैसे मनाते हैं होली का त्योहार देश के पूर्वी इलाकों और बिहार में होली को फाग उत्सतव के नाम से जाना जाता है। यहां कई स्थातनों पर कीचड़ से भी प्रख्या्त कुर्ता फाड़ होली खेली जाती है

हमारा देश विविधताओं से परिपूर्ण है और इसका सबसे बड़ा उदाहरण है होली का त्‍योहार जो देश के सभी राज्‍यों में अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है | वैसे तो होली…
Continue Reading