Archives for Doing The Different - Page 3

Doing The Different

भारत का एक अनुकरणीय गांव जहां बेटी पैदा होने पर लगाए जातें हैं 111 पेड़ डेनमार्क के स्कुल सिलेबस में शामिल है राजस्थान के आदर्श गांव पिपलांत्री की कहानी

हमारा  पुरुष प्रधान समाज आज भले बेटियों के सुरक्षा को ले कर तरह-तरह के दावें करता हो पर सच्चाई यही है की आज भी हमारे समाज में कई जगहों पर…
Continue Reading
Doing The Different

कलयुग के श्रवण कुमार – मां को स्कूटर पर बिठाकर 17 तीर्थ स्थानों के कराए दर्शन अपनी मां की छोटी से छोटी ख्वाहिश पूरी करने वाले डॉ. कृष्णा कुमार माँ के साथ 48 हजार किलोमीटर यात्रा कर चुके हैं

जहां आज आधुनिक जीवन शैली में स्मार्ट फोन की दुनिया में हीं लोग व्यस्त रहते हैं, और स्वयं को मॉडर्न और सुशिक्षित कहने वाले लोग वृद्धजनों की सेवा करना तो…
Continue Reading
Bihar

किन्नरों की आवाज़ हैं बिहार की ‘रेशमा प्रसाद’ बिहार की रेशमा प्रसाद ट्रांसजेंडर हैं और ‘दोस्ताना सफर’ संगठन के जरिए ट्रांसजेंडर समुदाय की बेहतरी के लिए करती हैं काम

सामाजिक जीवन का ताना-बाना पुरुष और स्त्री के बीच हीं सिमटा रहता है पर इन के अलावा  तीसरा जेंडर भी हमारे समाज का हिस्सा है, लेकिन  इसकी पहचान कुछ ऐसी…
Continue Reading
Doing The Different

बीमार लोगों के लिए मसीहा मेडिसीन बाबा, दिव्यांग होने के बावजूद लोगों की करते हैं हरसंभव मदद मेडिसिन बाबा जो बमुश्किल अपने पैरों से चल पाते हैं पर इनके हौसलों के पैर में मानो पंख लगे हों....

हम अपनी रोजमर्रा की  चिल्ल-पौं में इतने उलझे रहते हैं कि यह सोंच हीं नहीं सोच पाते कि हमसे बाहर भी एक दुनिया है और उसमें लोग रहते हैं |…
Continue Reading
Bihar

एक दिलेर आशिक माउंटेन मैन दशरथ मांझी जिनकी ‘दास्तां’ आने वाली कई पीढ़ियों को सबक सिखाती रहेगी शुरू में तो दशरथ माँझी के प्रयास का मज़ाक उड़ाया गया पर उनके इस प्रयास ने गेहलौर के लोगों के जीवन को सरल बना दिया

दशरथ मांझी, एक ऐसा नाम जो इंसानी जज़्बे और जुनून की बेजोड़ उदाहरण  है | दशरथ मांझी ( Dashrath Manjhi ) नाम है उस दीवानगी का, जो प्रेम की खातिर…
Continue Reading
Bihar

लाचारों की भूख मिटाते है पटना के गुरमीत सिंह परिजनों के विरोध के बावजूद 25 वर्षो से खुद के कमाए पैसे से कर रहे हैं लोगों की सेवा

मदद के बाद लोगों के चेहरे पर खुशी देखकर जो संतुष्टि गुरमीत सिंह को होती है वो उनके लिए जीवन की सबसे बड़ी खुशी है नेकदिली वो दरिया है, जहां…
Continue Reading
Doing The Different

समाजसेवकों के प्रेरणदूत धर्मवीर सिंह बग्गा पिछले 15 सालों से अधिक समय से गरीब और बेसहारा परिवार के बेटियों को बिना किसी बाहरी मदद के अपने निजी खर्चे सर्वधर्म सामूहिक विवाह का आयोजन कर 6 सौ से अधिक बहनों के हाथ पीले कर चुके हैं

आज की भाग दौड़ की जिंदगी में हर कोई अपने में हीं मगन है, पर समाज में हर कोई एक जैसा नहीं होता कुछ वैसे लोग भी मौजूद  हैं जो…
Continue Reading
Doing The Different

हांथ नहीं रहने के बावजूद विकलांगता मदन लाल के लिए अभिशाप नहीं है एक दर्जी बिना हाथों के अपना पेशा कैसे कर लेता है, यह बात लोगों को हैरत में डालती है

विकलांगता एक ऐसी परिस्तिथि है जिससे आप चाह कर भी पीछा नहीं छुड़ा सकते ! एक आम आदमी छोटी छोटी बातों पर झुंझला उठता है तो ज़रा सोचिये उन बदकिस्मत…
Continue Reading
Doing The Different

बारह वर्षों से घरेलू हिंसा के खिलाफ आवाज उठा रहीं हैं उत्तरप्रदेश की फ़रहत नकवी फ्री में करती हैं लोगों की कानूनी मदद भारत के प्रसिद्ध राजनेता और वर्तमान में अल्पसंख्यक मामलों के कैबिनेट मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन हैं फ़रहत नकवी

घरेलु हिंसा की शिकार महिलाओं की खामोशी तो समझ में आती है कि वो डरती हैं या फिर उनका इतना सशक्तिकरण नहीं हुआ है कि वो आगे आकर इसके खिलाफ…
Continue Reading
Doing The Different

भूख के खिलाफ इन युवाओं की अनोखी पहल से गरीबों को भी मिल रहा है रेस्टोरेंट का खाना फीडऑन ऐसे लोगों तक खाना पहुंचाता है जिनके पास पौष्टिक खाने का विकल्प नहीं होता

भूख का कोई धर्म नहीं होता, और न हीं किसी भूखे को रोटी पर किसी धर्म का ठप्पा नजर आता है | उसे तो बस किसी तरह अपनी भूख मिटानी…
Continue Reading