Archives for Featured

Event Story

पटना में कलाकारों और हुनर के उस्तादों के लिए बहुत बड़ा मंच लेकर आ रही है Writer’s Arena अगर जिगर में कुछ कर जाने की ज्वाला हो तो पोएट्री, सिंगिंग एवं रैप प्रतियोगिता के जरिये अपने कला को साकार करने के लिए तैयार हो जाइए

कहते है हर इंसान के अंदर कला छिपी होती है पर जीवन में हर किसी को कलाकार बनने का सौभाग्य प्राप्त नहीं होता | कूट – कूट कर कला भरे…
Continue Reading
Articles

झारखण्ड के युवा की शानदार फार्मिंग ! करते हैं बकरी के साथ मुर्गी एवं फैंसी बर्ड का पालन युवा बकरी पालक( Young Goat Farmer ) गौड़ पॉल जी से काफी कुछ सिख सकते हैं, इन्होने युवाओं के बीच एक मिसाल कायम किया है जो सोंचते हैं की गांव में कुछ नहीं किया जा सकता है

ऐसे बहुत सारे बढ़िया व्यवसाय है जो आप अपने घर पर रह कर भी आसानी से अपने परिवार की मदद से भी कर सकते हैं , जैसे बकरी पालन (…
Continue Reading
Bihar

Patna में India का तीसरा सबसे बड़ा River Front – Ganga Pathway | Ganga Marine Drive Patna मुंबई के मरीन ड्राईव और लंदन के टेम्स पाथ की तर्ज पर पटना में गंगा के किनारे लगभग 6 किलोमीटर लम्बा है यह EXPRESSWAY

Ganga Pathway Patna अब Patna किसी भी महानगर के मुकाबले में पीछे नहीं रहा है | पटना में मुंबई के मरीन ड्राईव और लंदन के टेम्स पाथ की तर्ज पर…
Continue Reading
Bihar

लेयर फार्मिंग की हक़ीकत ! कितना लाभ कितना हानि ? बहुत से लोग पटना बिहार में लेयर फार्मिंग करने की सोंच रहे हैं, पर ये भी सच है की आज पटना बिहार में बहुत से लेयर फार्म बंद हो चुके हैं या बंद होने के कगार पर है | आखिर इसकी वजह क्या है ?

दोस्तों इस बात में दो राय नहीं है की हमारा बिहार बढ़ रहा है, लगभग दो वर्ष पहले तक जिस अंडे (Egg ) के लिए हमे आँध्रप्रदेश और पंजाब की…
Continue Reading
Bihar

मछली उत्पादन से दूर हो सकती है बिहार की बेरोजगारी- ब्रजेश कुमार सिंह ब्रजेश कुमार सिंह अपनी जानकारी एवं अनुभव को अपने तक हीं सिमित नहीं रखना चाहते हैं वो चाहते हैं की हमारा बिहार मछली उत्पादन के मामले में आत्मनिर्भर बने | इसके लिए उनकी आगे की योजना है लोगों को निःशुल्क मछली पालन की ट्रेनिंग देना

दोस्तों इसे दुर्भाग्य हीं कहेंगे की जिस राज्य में मछली उत्पादन (Fish Production Bihar )की अपार संभावनाएं हैं, जिस राज्य की मिट्टी और पानी मछली पालन (Fish Farming )के लिए…
Continue Reading
Bihar

मुखिया जी का फिश फार्म कम कीमत के कारण पंगास के मार्केटिंग में थोड़ी बहुत दिक्कत आती है पर रोहू मछली और कतला मछली के मार्केटिंग में कोई दिक्कत नहीं आती ये आसानी से बिक जाती है |

दोस्तों आज बात करेंगे एक ऐसे उत्पाद की जिसकी बिहार में उत्पादन कम पर मांग ज्यादा है, और इस मांग की पूर्ति दूसरे राज्यों जैसे आँध्रप्रदेश और बंगाल से होती…
Continue Reading
Dhandha Paani

GOAT FARMING BUSINESS में अगर आप नए हैं तो इन बातों को जान ले वरना पछताना पड़ सकता है बकरी के बच्चे को लगभग दो महीने तक दूध की जरूरत परती है और अगर इस दौरान बकरी को प्रयाप्त दूध नहीं हो रहा है तो बकरी पालक दुधारू नस्ल जैसे सोजत या बीटल नस्ल की बकरी भी पाले

दोस्तों भले लोगों को लगता होगा की बकरी पालन ( Goat Farming )छोटा विषय है, पर ऐसी बात नहीं है | अगर आप बकरी पालन ( Goat Farming ) करना…
Continue Reading
Bihar

प्यार और पवित्रता का प्रतीक है राजहंस पक्षी पक्षियों में श्रेष्ठ हंस को माना जाता है। इसे बहुत विवेकी और शांत चित्त पक्षी माना गया है। हंस पक्षी प्यार और पवित्रता का प्रतीक है। ये जीवनभर एक ही पार्टनर के साथ रहते हैं

राजहंस (RajHans) एक स्थानीय पक्षी है, जो भारत के अलग-अलग हिस्सों में वास करता है। यह एक सामाजिक पक्षी (Social Bird ) है, जो झुंड बनाकर झीलों के किनारे रहना…
Continue Reading
Bihar

बिहारी युवा का स्टार्टअप अपने घर से पुरे बिहार में सप्लाई करते हैं मछली का जीरा बिहार अरवल के भीखनपुर धवई गांव के रहने वाले प्रणव सिंह का स्टार्टअप लोगों के बिच काफी लोकप्रिय हो रहा है | अब जो लोग बिहार में मछली पालन का कार्य कर रहे हैं उनको अब बंगाल या ओडिशा से मछली का जीरा लाने की जरुरत नहीं पड़ेगी

अब खरीदें मछली का जीरा आज बिहार में मछली  की जो दैनिक खपत होती है उसका अस्सी प्रतिशत हिस्सेदारी बिहार में बाहर से आने वाली मछलियों का है, तो सोंच…
Continue Reading
Bihar

वैशाली के राजदेव राय बटेर पालन द्वारा किसानों को दे रहे हैं नई उम्मीद सेहत और स्वाद से भरपूर बटेर के मांस को शाही मांस भी कहा जाता है, और इसकी वजह भी है जो कोई भी बटेर के मांस का स्वाद चख ले वो सारे मांस को भूल जायेगा साथ हीं हाई प्रोटीन से भरपूर बटेर के मांस में जिंक की मौजूदगी इसे और भी स्पेशल बनाती है

भले आज बटेर फार्मिंग में विषय में लोगों को बहुत कम जानकारी है या फिर इसके प्रति कम जागरूक है, पर बीते दो तीन वर्षों में बटेर पालन ने किसानों…
Continue Reading