Archives for Inspiring Thoughts

Inspiring Thoughts

संबंधों की शक्ति : कैथ फेर्रज्ज़ी

"महानता के बीज हम सभी के अंदर छुपे होते हैं। जिन्हें हम व्यवसाय शुरू करने से लेकर नई पीढ़ी के नेताओं के निर्माण में उपयोग करते हैं। इन्हीं बीजों को…
Continue Reading
Inspiring Thoughts

सही मूल्यों की सम्पति : नंदन नीलकेनी

सफलता को हासिल करने के लिए बुद्धिमत्ता और और कड़ी मेहनत दोनों ही जरुरी तत्व है ,लेकिन भाग्य और किस्मत की अपनी निश्चित भूमिका है . केवल समझदार या बुद्धिमान…
Continue Reading
Inspiring Thoughts

नैसर्गिकता का आलिंगन करो : स्वामी चैतन्य कृति

"बर्नार्ड शा  ने कही एक बार कहा था कि 'मैं ऐसी  सभ्यता का अथवा महानता का क्या करू, जिसमे मुझे किसी चौराहे पर नाचने में शर्म आती हो या प्रतिबन्ध हो. मुझसे अच्छे तो वे आदिवासी लोग है जो…
Continue Reading
Inspiring Thoughts

व्यस्त लगने की जगह व्यस्त बने : रोबिन शर्मा

"बहुत सारे लोग व्यस्त होने की जगह व्यस्त लगते है .व्यस्त लगने की जगह व्यस्त बने और परिणाम हासिल करे . इन्टरनेट पर ऐसे बहुत से समृद्ध साधन उपलब्ध है,…
Continue Reading
Inspiring Thoughts

अपने काम में जुटे रहिये : डेविड जे श्वार्ट्ज

"अगर 100 आई क्यू वाले किसी आदमी का रवैया सकारात्मक, आशावादी और सहयोगात्मक है , तो वह उस आदमी से ज्यादा पैसा, सफलता और सम्मान  हासिल करेगा जिसका आई क्यू  तो…
Continue Reading

आत्मा की भूख

स्वामी विवेकानंद उन दिनों अमेरिका  प्रवास में थे.  वे अपना भोजन अधिकतर स्वयं ही पकाते थे.  एक दिन उन्होंने अपना भोजन बनाकर तैयार किया.  इतने में ही कुछ भूखे बालक…
Continue Reading
Inspiring Thoughts

ईश्वर की सबसे सुंदर रचना : ए पि जे अब्दुल कलाम

"नारी जाति ईश्वर की सबसे सुंदर रचना है। मेरे जीवन को सबसे अधिक प्रभावित करने वाली दो महिलाएँ थीं - एक मेरी माँ और दूसरी प्रसिद्ध गायिका एम.एस.शुभलक्ष्मी। इनकी सरलता,…
Continue Reading
Inspiring Thoughts

अलग खड़ा होने का जूनून ही मेरी सफलता का राज – चंदा कोचर

"अगर मुझे यह बताना हो की मेरी सफलता में सबसे अधिक योगदान किसने दिया तो मैं कहूँगी, 'अलग खड़ा होने का जूनून .'मैं सोचती हूँ किसी भी लीडर (नेतृत्वकर्ता)  की…
Continue Reading
Inspiring Thoughts

जवानी और जोश

"आपने अक्सर लोगो को यह कहते सुना होगा कि अमुक जवान व्यक्ति में जोश तो बहुत है ,लेकिन होश नहीं  है. जहाँ  जोश के साथ होश नहीं जुड़ा है वहां जोश केवल हिंसा पैदा करता है . जवानी केवल जोश हो तो समाज में सिकंदर और चंगेज खान पैदा होते है .इसके विपरीत ,जोश के…
Continue Reading
12