Archives for National Stories - Page 3

Featured

गोद (Adoption) लेने वाले दंपत्ति अब लड़कों के अपेक्षा लड़कियों को कर रहे है पसंद | भारत मे वर्ष 2018 - 2019 के सी.ए.आर.ए रिपोर्ट के अनुसार लोग लड़कों से ज़्यादा लड़कियों को गोद (Adoption) लेना पसंद कर रहे हैं।

आज लोगों की सोच धीरे धीरे बेटियों के प्रति बदलती जा रही है | लोग बेटी को अब बोझ नहीं बल्कि बेटों से ज्यादा तवज्जो दिया जा रहा है| एक…
Continue Reading
Bihar

सचिन तेंदुलकर के जबरा फैन सुधीर गौतम(Sudhir Kumar Gautam) ; जिन्होंने अपना सारा जीवन सचिन तेंदुलकर के नाम कर दिया है :- ग्लोबल स्पोर्ट्स फैंस अवॉर्ड्स कार्यक्रम में विश्व के सबसे बड़े फैंस का सम्मान होगा और इन सबसे बड़े फैंस की लिस्ट में भारत के सुधीर गौतम भी शामिल हैं। इस कार्यक्रम का आयोजन वर्ल्ड कप 2019 के समय 14 जून को लंदन में किया जाएगा। कार्यक्रम में कुल 5 फैंस का सम्मान होगा उनमें से सुधीर कुमार चौधरी एक हैं।

आज-कल पूरे विश्व मे क्रिकेट का जुनून चढ़ा हुआ है। क्रिकेट भारत का एक लोकप्रिय खेल है , शायद ही कोई इस देश मे ऐसा होगा जिसने क्रिकेट खेला ना…
Continue Reading
Bihar

पटना महावीर मंदिर ट्रस्ट के तहत आने वाले तीन बड़े अस्पताल अब आयुष्मान भारत योजना के तहत हो चूका है पंजीकृत| आयुष्मान भारत योजना के साथ पंजीकृत हैं,यह संस्था अब गरीबी रेखा से नीचे (बीपीएल) रोगियों का करेगा कैशलेस इलाज|

महावीर मंदिर ट्रस्ट, जो की  महावीर मंदिर, पटना द्वारा संचालित एक धर्मार्थ ट्रस्ट है, जो अपने परोपकारी कार्यों के लिए जाना जाता है। उनके प्रयासों की बदौलत, बिहार और अन्य…
Continue Reading
Bihar

सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्मश्री से सम्मानित मिथिला की बेटी गोदावरी दत्ता | पद्मश्री सम्मानित गोदावरी दत्ता की 80 वर्षों की लंबी यात्रा|

एक प्रसिद्ध मिथिला कलाकार, गोदावरी दत्ता इस वर्ष बिहार के उन पाँच सम्मानित लोगों में से हैं, जिन्हें पद्म श्री पुरस्कारों से सम्मानित किया गया था। मिथिला कला में उनके…
Continue Reading
Doing The Different

महज 23 साल की मुंबई की आरोही पंडित ने लाइट स्पोटर्स एयरक्राफ्ट में अकेली अन्ध महासागार को पार करने वाली दुनिया की पहली महिला बन गई हैं। एलएसए लाइसेंस धारक आरोही और उनकी दोस्त कैथर ने छोटे से जहीज 'माही' में भारत से भरी थी उड़ान |

जहाँ इस देश में पहले लड़कियों को लड़के की अपेक्षा कम  आंका जाता था | आज इसी देश की बेटी बेटों को कई गुना पीछे छोड़ आगे निकल चुकी है…
Continue Reading
Articles

बिहार-उत्तरप्रदेश की सीमा पर बसा हुआ एशिया का सबसे बड़ा गांव “गहमर” जो सैन्य छावनी के नाम से भी जाना जाता है | इस गाँव के करीब दस हज़ार फौजी इस समय भारतीय सेना में जवान से लेकर कर्नल तक विभिन्न पदों पर कार्यरत हैं, जबकि पाँच हज़ार से अधिक भूतपूर्व सैनिक हैं ।

गहमर एक ऐसा गांव जो बिहार-उत्तरप्रदेश की सीमा पर बसा हुआ है ,जो आज वीर सिपाहियों गढ़ से प्रसिद्ध है | इस गांव की ख्याति महज देश तक ही सीमित…
Continue Reading
Famous People

अमेरिका जैसे महान देशों में भारत के राजदूत के रूप में अपनी सेवा दे चुके शहीद भगत सिंह के वकील आसफ अली| आजादी की लड़ाई में भगत सिंह का हर कदम परसाथ देने वाले आसिफ अली |

हमारे देश मे आजादी की जंग  के दौरान   न जाने कितने वीरों  ने जानें गवा दी थी उन्ही में से एक थे भगत सिंह |आज  देश का  हर एक बच्चा…
Continue Reading
Famous People

ओडिशा के बारगढ़ के  69 वर्षीय  हलधर नाग जिनको राष्ट्रपति के द्वारा पद्म श्री से किया जा चुका है सम्मानित| कोसली भाषा के कवि हलधर नाग जिनकी  सारी कवितायें होती है सामाजिक मुद्दों पे आधारित|

हर एक व्यक्ति के अंदर  एक कवि है, पर जरुरी नहीं हर कोई के पास अपने कला को आकार  दे पाए| आज हम बात कर  रहे है ऐसे शख्स  की…
Continue Reading
Articles

अतीत के पन्ने पर दूरदर्शन का इतिहास जो कभी हुआ करता था कंपलीट इंटरटेनमेंट चैनल| आज के ज़माने में प्रसारित टीवी पर जो चैनल चलते है उनका आज़ादी से 90 के दशक तक तो कोई वजूद ही नहीं था , उस वक्त केवल एक सिद्धांत के वजूद के अनुसार टीवी चलता था जोकि था "दूरदर्शन" ।

आजकल के आधुनिकीकरण एवं विज्ञान - तकनीक ने जमाने को पूरी तरह से बदल दिया है । जिसका एक अद्भुत उदाहरण सूचना एवं मनोरंजन के छेत्र से ही मिलता है…
Continue Reading
Famous People

रवींद्रनाथ टैगोर जी की 158वीं जयंती: वो शख्स जिन्होंने दो देशों को दिए राष्ट्रगान, जानिए उनसे जुड़ी बातें :- रवींद्रनाथ टैगोर जी का जन्म 7 मई, 1861 को कोलकाता में जोरासंको हवेली में हुआ था , हालांकि बंगाली कलेंडर के हिसाब से उनका जन्म 9 मई को भी माना जाता है।

साहित्य को देश से लेकर अंतराराष्ट्रीय स्तर तक नई पहचान दिलाने वाले पहले नोबल पुरस्कार विजेता रवींद्रनाथ टैगोर की आज 158वीं जयंती है। उनका जन्म 7 मई, 1861 को कोलकाता…
Continue Reading