मानवता की सेवा से बढ़कर कोई भी धर्म नहीं होता। भगवान ने दो हाथ इसलिए दिए हैं कि पहले हाथ से खुद की मदद करें।तो दूसरी हाथ हमेशा  दूसरों की…
Continue Reading