Tag archives for inspirational stories

Doing The Different

श्रीकांत बोला जो की जन्म से ही नेत्रहीन है इसके बावजूद इन्होने “Bollant Industries” के नाम से एक कंपनी शुरू की है। श्रीकांत बोला, जिसने अपने जज़्बे को कायम रखा और अपनी मंज़िल को पाने का केवल रास्ता ही नहीं बनाया और उसे हासिल भी किया।। यही नहीं इस कंपनी का सलाना turnover 80 करोड़ से भी ज्यादा का है|

दोस्तों, हौसला हो तो क्या नहीं पाया जा सकता। इंसान में सच्ची प्रतिभा और लगन होनी चाहिए, बस फिर कोई भी कठिनाई चाहे वो शारीरिक हो, पारिवारिक या फिर आर्थिक…
Continue Reading
Motivational Stories

मन से, वचन से, कर्म से तीनो एक जैसा होना चाहिए।

एक आदमी कथा कर रहा था उसने कहा बैगन का नाम इसलिए बैगन पड़ा क्योकि उस में गुण नहीं होता इसलिए बेगुन हो जाता है जिसे लोग बैगन कह देते…
Continue Reading
Motivational Stories

खुद को पेंसिल जैसा बनाओ

एक लड़का अपने पिता को कागज पर कुछ  लिखते  हुए देखकर पूछा, -' क्या आप मेरे लिए कहानी लिख रहे है ? पिता ने कहा,- 'कहानी तो लिख रहा हूँ पर उससे महत्वपूर्ण यह पेंसिल है जिससे मैं लिख रहा हूँ और उम्मीद करता हूँ तुम भी बड़े होकर पेंसिल कि…
Continue Reading
Motivational Stories

कर्म को सौभाग्य मानो

एक व्यक्ति बन रहे मंदिर के पास से गुजर रहा था ,वहा कुछ मजदुर काम करते हुए दिख रहे थे .उसने एक मजदुर से पूछा ,'क्या कर  रहे हो  ?' मजदुर ने खीझते हुए…
Continue Reading
Motivational Stories

प्रेम का माणिक

एक गाँव में एक बुढा-बुढ़िया छोटी सी कुटिया में रहते थे .एक रात बहुत बारिश हो रही थी और बुढा-बुढ़िया दोनों अपने कुटिया का दरवाजा बंद करके सो रहे थे…
Continue Reading
Motivational Stories

प्रभु के शरण में

एक बुढा व्यापारी था ,वह रोज कहा करता था - हे! प्रभु मुझे अपनी शरण में बुला लो . एक दिन सचमुच भगवान का दूत  आ गया बोला -चलिए ! भगवान ने आपकी सुन ली ,उन्होंने बुलाया है . व्यापारी के लिए ये तो अप्रत्याशित था . वह तो ऐसे ही  लोगो की देखा- देखी कहा करता था. वो भला अभी क्यों भगवान के पास जाना चाहता इसलिए उसने एक…
Continue Reading
Motivational Stories

इंसान और जानवर

एक आदमी के पास एक कुत्ता था जब कभी भी कोई गाड़ी उस  घर के सामने तेजी से  गुज़रती थी तो कुत्ता उसके पीछे भौंकता हुआ दौड़ता  था और गाड़ी को पकड़ने की…
Continue Reading
Motivational Stories

खिचड़ी से भी ज्ञान

एक बार खेतड़ी नरेश ने स्वामी  विवेकानंद को अपने यहाँ भोजन पर आमंत्रित किया   . उन्हें खिचड़ी बहुत पसंद था इस लिए उन्हें गरम-गरम खिचड़ी परोसी गयी. खिचड़ी में ढेर सारी घी होने कि वजह से काफी अच्छी खुशबू आ रही थी जो स्वामी जी के  मन को…
Continue Reading

सुकरात का नजरिया

प्रेरक प्रसंग सुकरात एक महान दार्शनिक तो थे ही, उनका जीवन संतों के जीवन की तरह परम सादगीपूर्ण था। उनके पास कोई संपत्ति नहीं थी, यहाँ तक कि वे पैरों…
Continue Reading

करारा जबाब

प्रेरक प्रसंग बंगाल के महान शिक्षाविद सर आशुतोष मुखर्जी एक बार सीधे-सादे कपड़ों में प्रथम श्रेणी के डिब्बे में यात्रा कर रहे थे । उसी डिब्बे में एक अँगरेज़ भी…
Continue Reading