Tag archives for Katha-Sandesh - Page 2

Motivational Stories

कथा कुशीनगर की

कथा-संदेश मल्लदेश के राजा की कोई संतान नहीं थी। इन्द्र ने एक बार उनकी पटरानी शीलवती पर प्रसन्न हो दो पुत्रों का वर प्रदान किया। पहला पुत्र बिल्कुल कुरुप था;…
Continue Reading
12